नई दिल्ली: केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (BJP) को फाइनेंशिय ईयर 2019-20 के दौरान कुल 785 करोड़ रुपये का चंदा मिला. इसमें व्यक्तिगत दान, इलेक्टोरल ट्रस्ट और उद्योगों से मिली रकम शामिल है. ये मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस को इसी अवधि में मिले चंदे का करीब पांच गुना है. कांग्रेस को 139 करोड़ का चंदा मिला. 

भाजपा ने चंदे को लेकर फरवरी में निर्वाचन आयोग को अपनी रिपोर्ट सौंपी थी जिसे इस सप्ताह सार्वजनिक किया गया है. रिपोर्ट के मुताबिक पार्टी को 785 करोड़ रुपये का चंदा मिला. जानकारी के मुताबिक भाजपा के चंदे में सबसे अधिक योगदान चुनावी न्यास (इलेक्टोरल ट्रस्ट), उद्योगों और पार्टी के अपने नेताओं ने किया.

ये भी पढ़ें- CM योगी के दिल्‍ली दौरे के बीच अमित शाह से BJP की सहयोगी पार्टी ने की ये ‘डिमांड’!

BJP के इन नेताओं ने दिया सबसे ज्यादा चंदा

भाजपा को सबसे अधिक चंदा देने वाले नेताओं में पीयूष गोयल, पेमा खांडू, किरण खेर और रमन सिंह शामिल हैं. इनके अलावा आईटीसी, कल्याण ज्वेलर्स, रेयर इंटरप्राइजेस, अंबुजा सीमेंट, लोढा डेवलपर्स और मोतीलाल ओसवाल कुछ प्रमुख उद्योग समूह हैं जिन्होंने भाजपा को चंदा दिया. न्यू डेमोक्रेटिक इलेक्टोरल ट्रस्ट, प्रूडेंट इलेक्टोरल ट्रस्ट, जलकल्याण इलेक्टोरल ट्रस्ट, ट्रिम्फ इलेक्टोरल ने भी भाजपा के कोष में योगदान दिया.

ये भी पढ़ें- मंदिर की 47,000 एकड़ जमीन हुई ‘लापता’, अब खोजेगी सरकार

कांग्रेस को मात्र 139 करोड़ का चंदा

कांग्रेस द्वारा चंदे की मुहैया कराई गई जानकारी के मुताबिक उसे कुल 139 करोड़ का चंदा मिला. वहीं ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस को आठ करोड़ रुपये, भाकपा को 1.3 करोड़ रुपये और माकपा को 19.7 करोड़ रुपये का चंदा मिला.

गौरतलब है कि इस रिपोर्ट में 20 हजार से अधिक राशि देने वालों की ही जानकारी है. कोविड-19 महामारी के चलते निर्वाचन आयोग ने वर्ष 2019-20 के लिए वार्षिक ऑडिट रिपोर्ट जमा कराने की अंतिम तरीख बढ़ाकर 30 जून कर दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP to LinkedIn Auto Publish Powered By : XYZScripts.com