लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार कम हो रहे हैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) खुद शहरों और गावों में जाकर वैक्सीनेशन और कोरोना संक्रमण से मुकाबले की तैयारियों का जायजा ले रहे हैं. यूपी सरकार कोरोना की दूसरी लहर से मुकाबला कैसे कर रही है, गांवों में टेस्टिंग और वैक्सीनेशन का अभियान कैसे चलाया जा रहा है? और प्रयागराज में गंगा किनारे शवों का सच क्या है? इन तमाम मुद्दों पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से हमारे संवाददाता विशाल पाण्डेय ने खास बातचीत की. 

टेस्टिंग बढ़ाने से मिला फायदा

सीएम ने कहा कि राज्य में रोजाना 3 लाख से ऊपर कोरोना टेस्ट हो रहे हैं. हमने 0 से शुरू कर ये आंकड़ा साढ़े 3 लाख के ऊपर पहुंचा दिया है. सीएम ने कहा कि उत्तर प्रदेश में कोरोना की स्थिति कंट्रोल में है लेकिन इसे लेकर कुछ लोगों ने पैनिक फैलाया. उन्होंने कहा कि महामारी में संस्थान कम पड़ते हैं लेकिन हम जज्बे से लड़ रहे हैं. सीएम ने कहा कि कोरोना महामारी के शुरुआत में हमारे पास उपचार की व्यवस्था नहीं थी, अस्पतालों में बेड्स नहीं थे लेकिन पीएम मोदी और भारत सरकार की मदद से आज हमारे पास 80 हजार से अधिक बेड्स हैं.  

ये भी पढ़ें- ब्लैक, व्हाइट और येलो फंगस के बाद सामने आया नया इंफेक्शन, डॉक्टर भी हैरान

कोरोना की तीसरी लहर के लिए तैयारियां शुरू

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने माना कि कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमण की गति तेज थी. ऐसे में अस्पतालों में बेड, ऑक्सीजन और दवाइयों की डिमांड भी बढ़ी. उन्होंने कहा कि अब हमने आगे कोरोना के किसी भी लहर से लड़ने की तैयारियां शुरू कर दी हैं. उन्होंने कहा कि निगरानी समिति गांव-गांव जाकर निगरानी कर रही है. 

गांव-गांव जाकर कर रहे टेस्ट 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गांव के लोग टेस्ट से भागते हैं. लेकिन हम गांव-गांव जाकर टेस्ट करेंगे. उत्तर प्रदेश सरकार ने कोरोना के खिलाफ कैंपेन चलाया है जिसके तहत निगरानी समितियां डोर टू डोर कैंपेन कर रही हैं. लोगों की स्क्रीनिंग कर उन्हें दवाइयां उपलब्ध कराई जा रही हैं. संक्रमण की दर को हर स्तर पर कम करने की तैयारी है. 

वैक्सीनेशन को लेकर यूपी सरकार की तैयारी? 

वैक्सीनेशन को लेकर सीएम योगी ने कहा कि कॉमन सर्विस सेंटर पर वैक्सीनेशन की तैयारी की गई है. हर ग्राम पंचायत में कॉमन सर्विस सेंटर बनाए गए हैं जिससे वैक्सीन लगवाने के लिए लोगों को दूर न जाना पड़े. इसके साथ ही आशा वर्कर्स लगातार वैक्सीन को लेकर लोगों में जागरूकता फैलाने का काम कर रही हैं. 

गंगा किनारे पड़े शवों का सच क्या है? 

प्रयागराज में गंगा किनारे पड़े शवों का सच क्या है इस सवाल का जवाब देते हुए सीएम योगी ने कहा कि ये विपक्ष की नकारात्मक भूमिका है. जब भारत आतंकवाद के खिलाफ पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक करता है तब भी विपक्ष जवाब मांगता है. जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस सदी की सबसे बड़ी महामारी के खिलाफ सभी लोगों को साथ लेकर जंग लड़ रहे हैं तब विपक्ष ब्रेकर बनके अफवाह फैलाने का काम कर रहा है. यह बहुत खराब स्थिति है. ये लोग न केवल कोरोना के खिलाफ अभियान में ब्रेकर बने हुए हैं बल्कि वैक्सीनेशन को लेकर भी देश में डर और भ्रम की स्थिति पैदा की है. जिन लोगों ने महामारी के दौरान भ्रम की स्थिति पैदा की है उन्होंने राष्ट्रीय अपराध किया है. 

यहां देखें पूरा इंटरव्यू- 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP to LinkedIn Auto Publish Powered By : XYZScripts.com