अनलॉक की ढ‍िलाई ने बढ़ाई कोविड की तीसरी लहर का खतरा, जानें क्‍यों बढ़ रहा है तीसरी लहर का खतरा

अनलॉक की ढ‍िलाई ने बढ़ाई कोविड की तीसरी लहर का खतरा, जानें क्‍यों बढ़ रहा है तीसरी लहर का खतरा

<!–

–>

आसानी से फैलता है कोरोना वायरस

आसानी
से
फैलता
है
कोरोना
वायरस

तीसरी
लहर
से
डरने
की
जरुरत
इसल‍िए
भी
है
क‍ि
ये
वायरस
अन्‍य
वायरस
की
तुलना
में
अधिक
और
आसानी
से
फैलता
है।
प्रतिष्ठित
मेडिकल
जर्नल ‘द
लांसेट’
में
छपी
एक
स्टडी
की
मानें
तो
ज्यादातर
ट्रांसमिशन
हवा
के
रास्ते
(aerosol)
से
हो
रहा
है।
इसल‍िए
लोग
इससे
ज्‍यादा
देर
तक
बच
नहीं
पा
रहे
हैं।
अगर
तीसरी
लहर
को
आने
से
रोकना
है
तो
अनलॉक
में
बाहर
न‍िकलते
हुए
लोगों
के
सीधे
संपर्क
में
आने
से
बचे
और
सोशल
डिस्‍टेसिंग
का
पालन
करना
जरुरी
है।

<!–

–>

एम्स निदेशक दे चुके है चेतावनी

एम्स
निदेशक
दे
चुके
है
चेतावनी

पिछले
जून
में
ही
कोरोना
की
तीसरी
लहर
के
बारे
में
एम्‍स
के
डायरेक्टर
डॉ.
रणदीप
गुलेरिया
ने
पहले
ही
चेता
दिया
था
क‍ि
यदि
कोरोना
गाइडलाइंस
को
गंभीरता
से
नहीं
ल‍िया
गया
और
बाजारों
या
टूरिस्ट
स्पॉट
पर
लगने
वाली
भीड़
पर
न‍ियंत्रण
नहीं
लाया
गया,
तो
कोरोना
की
तीसरी
लहर
सिर्फ
6
से
8
हफ्तों
के
भीतर
ही
पूरे
देश
पर
हमला
कर
सकती
है।
इसलिए
अनलॉक
की
प्रक्रिया
में
हमें
कोविड
प्रोटोकॉल
को
अवॉइड
करने
से
बचना
चाह‍िए।
इसल‍िए
हमें
लॉकडाउन
की
ढि‍लाई
को
हल्‍के
में
नहीं
लेना
चाह‍िए।

<!–

–>

कई देशों में बढ़ा तीसरी लहर का अंदेशा

कई
देशों
में
बढ़ा
तीसरी
लहर
का
अंदेशा

यूके
में
तीसरी
लहर
आने
की
संभावना
बहुत
तेज
हो
गई
है।
यूके
में
प्रतिदिन
25
हजार
से
ज्‍यादा
कैसेज
सामने

रहे
है।
जुलाई
के
मध्‍य
तक
ये
संख्‍यां
बढ़कर
50
हजार
तक
बढ़
सकती
है।
इतनी
बदत्तर
हालात
होने
के
बावजूद
भी
यूके
सरकार
19
जुलाई
से
अंतिम
कोविड
प्रतिबंध
हटाने
जा
रही
है।
ब्रिटेन
में
कोरोनावायरस
संक्रमण
की
तीसरी
लहर
चल
रही
है।
सरकार
के
मुख्य
वैज्ञानिक
सलाहकार
सर
पैट्रिक
वालेंस
के
अनुसार,
नए
मामलों
की
संख्या
लगभग
हर
नौ
दिनों
में
दोगुनी
हो
रही
है।
यदि
गति
धीमी
नहीं
हुई,
तो
राष्ट्रीय
महामारी
जल्द
ही
सर्दियों
में
देश
में
आने
वाली
दूसरी
लहर
से
भी
बड़ी
हो
सकती
है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *