अब मार्केट में आएगी कोविड-19 की पीने वाली वैक्सीन, वैज्ञानिक तेजी से कर रहे काम

नई दिल्ली. इन दिनों कोरोना वैक्सीन को लेकर वैज्ञानिक लगातार कोशिशें कर रहे हैं. इसी कड़ी में वैज्ञानिक एक ऐसी कोरोना वैक्सीन बना रहे हैं, जिसे आसानी से पिया जा सकेगा. फिलहाल जो वैक्‍सीन मौजूद हैं, उसमें लोगों को इंजेक्‍शन लगवाने पड़ते हैं. मगर माना जा रहा है कि यह नई वैक्‍सीन एक गेम चेंजर साबित हो सकेगी. यह कब तक बाजार में उपलब्‍ध होगी, इस बारे में कोई जानकारी नहीं है.

शोधकर्ता ऐसे टीकों के प्रकारों की मांग कर रहे हैं, जो न केवल गंभीर बीमारी बल्कि संक्रमण से भी बेहतर तरीके से हमारी रक्षा करते हैं. लेकिन पैसा और नई वैक्सीन तकनीक उनके रास्ते में आड़े आ सकती है. तो सोचिए अगर आपको आस्तीन चढ़ाने के बजाए कोरोना वैक्सीन पीना पड़े तो कितनी आसानी होगी. आने वाले कुछ सालों में पीने वाली वैक्सीन जल्द ही मार्केट में उपलब्ध होगी.

CNET की रिपोर्ट के मुताबिक शोधकर्ता अभी इन दिनों म्यूकोसल टीकों पर अपना ध्यान केंद्रित किये हुए हैं, जिसमें नाक या सांस के टीके शामिल हैं. साथ ही QYNDR जैसे मौखिक टीके “स्विश और निगल” शामिल हैं, जिसने अपने पहले फेज का क्लीनिकल ट्रायल पूरा कर लिया है. मौजूदा वक्त में ट्रायल के लिए और बाजार में वैक्सीन को उतारने के लिए पैसे की जरूरत है.

QYNDR के निर्माता, यूएस स्पेशलिटी फॉर्म्युलेशन के संस्थापक काइल फ्लैनिगन कहते हैं, QYNDR वैक्सीन को “किंडर” कहा जाता है, क्योंकि यह वैक्सीन देने का एक नरम तरीका है. न्यूजीलैंड से क्लीनिकल ​​​ट्रायल को लेकर वैज्ञानिकों को ढेर सारी उम्मीदें हैं. हालांकि अभी तक इसके निष्कर्षों को लेकर खोज जारी है.देश में गणतंत्र दिवस यानी 26 जनवरी को नाक से दी जाने वाली पहली कोरोना वैक्सीन लॉन्च की जाएगी. भारत बायोटेक अपनी इंट्रानेजल कोविड-19 वैक्सीन INCOVACC लॉन्च करेगी. कंपनी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक कृष्णा एला ने शनिवार को इसकी जानकारी दी.

Tags: Corona vaccine, Coronavirus

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *