अमित शाह का बिहार दौरा: पूर्णिया में जनसभा, किशनगंज में काली माता की पूजा, जानें मिनट-टू-मिनट कार्यक्रम

हाइलाइट्स

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह 23 और 24 सितंबर को बिहार के पूर्णिया और किशनगंज जिले के दौरे पर रहेंगे.
पूर्णिया के रंगभूमि मैदान में वे 23 सितंबर को जनसभा को संबोधित करेंगे. इसके बाद वे किशनगंज में रुकेंगे.
24 सितंबर को ऐतिहासिक बूढ़ी काली मंदिर में अमित शाह पूजा अर्चना करेंगे. फिर एसएसबी के साथ मीटिंग.

रिपोर्ट- आशीष सिन्हा/कुमार प्रवीण
पूर्णिया/ किशनगंज. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के सीमांचल दौरे को लेकर जिले में प्रशासनिक तैयारियां तेज हो गई हैं. अमित शाह पहले पूर्णिया के रंगभूमि मैदान में 23 सितंबर को जनसभा को संबोधित करेंगे; फिर किशनगंज में रुकेंगे. 24 सितंबर को यहां ऐतिहासिक बूढ़ी काली मंदिर में पूजा अर्चना करेंगे. अमित शाह के दौरे का पूरा कार्यक्रम सामने आ गया है.

मिली जानाकारी के अनुसार, अमित शाह 23 सितंबर को चुनापूर हवाई अड्डा पहुंचेंगे. यहां से सीधे पूर्णिया स्थित रंगभूमि मैदान जाएंगे और वहां जनसभा को संबोधित करेंगे. इसके बाद अमित साह चूनापुर हवाई अड्डा से खगड़ा किशनगंज के लिए हेलीकॉप्टर से रवाना होंगे.

किशनगंज पहुंचने पर माता गुजरी विश्वविद्यालय में वह रुकेंगे. 23 सितंबर को शाम 4 बजे से रात 9 बजे तक यहां भाजपा नेताओं के साथ बैठक करेंगे. यहीं डिनर भी करेंगे. इस बैठक में सीमांचल के भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के अलावा जिला व प्रखंड अध्यक्षों से भी शाह मुलाकात करेंगे.

[embedded content]

इसके अगले दिन सुबह 24 सितंबर को अमित शाह किशनगंज में प्रसिद्ध बूढ़ी काली मंदिर का दर्शन करेंगे. यह मंदिर लगभग 121 वर्ष पुराना है. मान्यता है कि यहां की काली माता जागृत हैं और यहां निकटवर्ती पश्चिम बंगाल और नेपाल से भी श्रद्धालु पहुंचते हैं. पूजा अर्चना के बाद वे फतेहपुर नेपाल बार्डर एसएसबी कैंपस जाएंगे.

बताया जा रहा है कि गृह मंत्री एसएसबी कैंपस किशनगंज में अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे. बैठक में बॉर्डर पार की गतिविधियों के अलावा भारतीय सीमा में सुरक्षा व्यवस्था पर चर्चा होगी. माता गुजरी विश्वविद्यालय में वापसी के बाद वह जिला कोर समिति के साथ बैठक करेंगे. आजादी के अमृत महोत्सव को लेकर भी एक कार्यक्रम में शामिल हो सकते हैं.

Tags: Bihar News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *