अयोध्या में राम मंदिर के परकोटे का नहीं बढ़ाया जा रहा दायरा, महासचिव चंपत राय ने किया स्पष्ट

अयोध्या. उत्तर प्रदेश के अयोध्या में भगवान राम के भव्य और दिव्य मंदिर का निर्माण युद्धस्तर पर चल रहा है. मंदिर की भव्यता और निर्माण प्रक्रिया को लेकर समय-समय पर ट्र्स्ट की ओर से फोटो और कार्य विधि से संबंधित वीडियो जारी किया जाता है, लेकिन राम मंदिर में हो रहे परकोटे के निर्माण को लेकर देश भर में अलग-अलग जानकारियां फैलाई जा रही हैं. ऐसे में परकोटे के निर्माण को लेकर असली सच क्या है इसकी जानकारी लेने के लिए न्यूज़ 18 लोकल की टीम श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय से बातचीत की जिसमें उन्होंने परकोटे के निर्माण में किसी भी तरह के बदलाव को सिरे से खारिज किया.

बता दें कि, मंदिर की दिव्यता और भव्यता के लिए चारों तरफ परकोटे का निर्माण किया जाएगा. ट्रस्ट के मुताबिक परकोटा 14 फीट चौड़ा होगा. साथ ही यह चारों दिशाओं में आयताकार होगा ताकि श्रद्धालु अपने आराध्य की परिक्रमा आसानी से कर सकें. इसके अलावा, परकोटे के चारों कोने पर मंदिर बनाए जाएंगे. इतना ही नहीं, परकोटे के दीवारों पर प्रभु श्रीराम से जुड़े चित्रों को प्रदर्शित किया जाएगा.

परकोटे पर महासचिव चंपत राय का जवाब
चंपत राय ने बताया कि परकोटे का कोई भी विस्तार नहीं किया गया है. जैसा परकोटा पहले दिन चिंतन में था. मंदिर के वास्तुकार सोनपुरा के दिमाग में जैसा चित्र पहले दिन था, वैसा ही आज भी है.

वो बताते हैं कि परकोटा 14 फीट चौड़ा होगा चारों दिशाओं में आयताकार होगा. चारों दिशाओं में यदि कोई पैदल चलेगा तो 800 मीटर पैदल परकोटे की दूरी होगी. परकोटे के चारों तरफ चार मंदिर बनाए जाएंगे. इसके अलावा परकोटे में उत्तर और दक्षिण की दिशा में बीचों-बीच में भी मंदिर रहेगा. अर्थात कुल छह मंदिर बनाए जाएंगे. तो वहीं, परकोटे के दीवार में 150 चित्र बनाए जाएंगे.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

FIRST PUBLISHED : November 24, 2022, 15:34 IST

Share
Facebook Twitter Pinterest Linkedin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *