अस्पताल में Ram Rahim की देखभाल करेगी Honeypreet, बाबा की अटेंडेंट बनकर रहेगी साथ

चंडीगढ़: रेप के मामले में दोषी डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम (Gurmeet Ram Rahim Singh)  का गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में इलाज चल रहा है. राम रहीम को रविवार को यहां भर्ती कराया गया था, इससे पहले तबीयत बिगड़ने के बाद उसे रोहतक की सुनारिया जेल से पीजीआईएमएस में भी भर्ती कराया गया था.

हनीप्रीत बनी अटेंडेंट

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक राम रहीम की राजदार और सबसे करीबी हनीप्रीत (Honeypreet ) अब अस्पताल में उसकी देखभाल करेगी. हनीप्रीत ने अस्पताल में खुद को राम रहीम के अटेंडेंट के तौर पर रजिस्टर कराया है और अगले एक हफ्ते तक वह उसकी देखभाल करेगी. उसे अस्पताल में राम रहीम से मिलने की इजाजत होगी और वह राम रहीम की खिदमत के लिए अस्पताल में मौजूद रहेगी. हनीप्रीत ने अस्पताल में अपना एक अटेंडेंट कार्ड भी बनवाया है.

राम रहीम हरियाणा के रोहतक जिले की सुनारिया जेल में सजा काट रहा है. जेल में गुरुवार को पेट दर्द की शिकायत के बाद रोहतक के पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (पीजीआईएमएस) में उसके कुछ टेस्ट किए गए थे. इसके बाद राम रहीम को आगे के टेस्ट के लिए मेदांता अस्पताल ले जाया गया.

रोहतक से गुरुग्राम में किया था शिफ्ट

सुनारिया जेल के अधीक्षक सुनील सांगवान ने बताया कि राम रहीम की तबीयत से जुड़े सभी टेस्ट पीजीआईएमएस में नहीं किए जा सकते थे. इस संबंध में एक और शीर्ष सरकारी अस्पताल से संपर्क किया गया और उन्होंने कहा कि कोविड-19 हालात के चलते फिलहाल वहां टेस्ट नहीं किए जा रहे हैं.

सांगवान ने कहा कि बाद में जेल अधिकारियों को सुझाव दिया गया कि मेदांता अस्पताल में जांच कराई जा सकती हैं. फिर राम रहीम को भारी पुलिस बल के बीच अस्पताल ले जाया गया. इससे पहले, अधिकारियों ने कहा था कि रोहतक में स्थित पीजीआईएमएस में राम रहीम के पेट का सीटी स्कैन और अन्य टेस्ट किए गए थे. 

ये भी पढ़ें: जेल में बंद राम रहीम को हुआ कोरोना, टेस्ट कराने को नहीं हो रहा था राजी

डेरा प्रमुख अपनी दो महिला अनुयायियों से बलात्कार के मामले में दोषी पाए जाने के बाद 2017 से ही सुनारिया जेल में बंद है. पंचकुला में एक विशेष सीबीआई अदालत ने अगस्त 2017 में उसे बलात्कार के दो मामलों में 20 साल की जेल की सजा सुनाई थी.

(एजेंसी के इनपुट के साथ)

Share
Facebook Twitter Pinterest Linkedin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *