इस मुस्लिम संगठन ने PFI के खिलाफ हुई कार्रवाई को ठहराया सही, कहा- देश को इस्लाम के नाम पर गुमराह किया

हाइलाइट्स

ऑल इंडिया पसमांदा मुस्लिम महाज ने पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के खिलाफ हुई कार्रवाई को सही ठहराया.
ऑल इंडिया पसमांदा मुस्लिम महाज ने कहा कि PFI ने इस्लाम के नाम पर गुमराह किया है.
पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के खिलाफ एनआईए ने कार्रवाई की है.

नई दिल्ली. ऑल इंडिया पसमांदा मुस्लिम महाज ने पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के सदस्यों पर कार्रवाई (गिरफ्तारी) के संबंध में प्रेस विज्ञप्ति जारी की है. प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है, “पीएफआई इस्लाम के रक्षक के रूप में कार्य करके देश को गुमराह करने की कोशिश कर रहा है. हमने उनकी नीतियों का बार-बार विरोध किया है और उनके प्रतिबंध के लिए अनुरोध किया है”. ऑल इंडिया पसमांदा मुस्लिम महाज ने विज्ञप्ति में कहा है कि भारत सरकार की राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी ने पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया की संदिग्ध गतिविधियों के आधार पर ही उसके खिलाफ मामला दर्ज किया गया है और इसके कई कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है. ऑल इंडिया पसमांदा मुस्लिम महाज छापा मारने के सरकार के फैसले से सहमत है. यह मानते हुए कि यह देश के सर्वोत्तम हित में है. हमारा संगठन भारतीय संविधान का पूर्ण समर्थन करता है.

साथ ही यह भी कहा कि भारतीय राष्ट्रीय सुरक्षा और संविधान के खिलाफ किसी भी तरह की गतिविधि राष्ट्र विरोधी है और इसे बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाना चाहिए. प्रेस विज्ञप्ति में संगठन ने कहा कि यदि यह कार्रवाई कानून के अनुपालन और आतंकवाद को रोकने के लिए की जा रही है, तो सभी को धैर्य रखना चाहिए. गिरफ्तार व्यक्तियों पर हत्या, हिंसा और आग्नेयशास्त्र रखने जैसे गंभीर अपराधों के आरोप लगाए गए हैं. हालांकि आरोपों को अदालत में साबित किया जाना चाहिए. विज्ञप्ति में कहा गया कि पिछले कई दिनों से पीएफआई की ओर से देश विरोधी गतिविधियों की खबरें आ रही है. पीएफआई के आरोपों को ध्यान में रखते हुए देश में मुसलमानों के लिए स्थिरता और सांति को आगे बढ़ाने में मदद करना जरूरी है.

[embedded content]

संगठन ने विज्ञप्ति में कहा कि पीएफआई खुद को इस्लाम के रक्षक के रूप में पेश करके देश को गुमराह करने की कोशिश कर रहा है. लेकिन यह रणनीति देश और मुस्लिम समुदाय दोनों के लिए हानिकारक है. महाज ने समय-समय पर पीएफआई की राष्ट्र विरोधी गतिविधियों का विरोध किया है और उनपर प्रतिबंध लगाने का भी आह्वान किया है. संगठन ने कहा कि देश का बंटवारा करने वाली ताकते अभी देश से गई नहीं है. हम किसी भी आतंकवादी, उग्रवादी व हिंसक गतिविधियों के खिलाफ है.

Tags: NIA, PFI

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *