केजरीवाल ने किया दिल्ली विधानसभा में ब्रिटिश काल के फांसी घर का अनावरण, जानें क्या है खासियत

नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली विधानसभा परिसर में मंगलवार को कोरोना वारियर्स मेमोरियल और पुनर्निर्मित फांसी घर का अनावरण किया. इस दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल ने शहादत देने वाले कोरोना वारियर्स के परिजनों को सम्मानित किया. उन्होंने कहा कि कोरोना वारियर्स ने अपनी जान की परवाह किए बिना लोगों की मदद की, ऐसे 31 कोरोना वारियर्स का मेमोरियल बनाया गया है.

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ शहीदों को याद करने का एक अवसर है. दिल्ली विधानसभा में मिले ब्रिटिशकालीन फांसी घर का पुनरुद्धार कराया गया है. मुख्यमंत्री ने महामारी के दौरान जान गंवाने वाले 31 कोरोना योद्धाओं के परिजनों को प्रमाण पत्र भी वितरित किए. उन्होंने इस अवसर पर कहा कि विधानसभा अध्यक्ष ने जब तक परिसर में ब्रिटिश काल के फांसी घर का पता नहीं लगाया था तब तक इसके बारे में लोग केवल मुंह जुबानी ही जानते थे.

जिस बंद कमरे का ताला तुड़वाया वहां एक साथ दो लोगों को फांसी देने की थी व्यवस्था
केजरीवाल ने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष ने एक बंद कमरे का ताला तुड़वाया था और पता चला कि वहां एक वक्त में दो लोगों को फांसी देने की व्यवस्था थी. अनगिनत लोगों ने हमें आजादी दिलाने के लिए अपनी कुर्बानी दी. कृपया इस फांसी घर को देखें और अपने मित्रों को भी इसके बारे में बताएं ताकि उन्हें पता चल सके कि लोगों ने देश के लिए किस तरह जान न्योछावर कर दी.

दिल्ली विधानसभा में नई परंपरा की हुई शुरुआत
इस दौरान दिल्ली विधानसभा के अध्यक्ष राम निवास गोयल ने इसे नई परंपरा बताया है. उन्होंने कहा कि हर वर्ष 9 अगस्त को हम अपनी शहादत देने वाले कोरोना वारियर्स को श्रद्धा सुमन अर्पित करने के लिए विधानसभा परिसर में इकट्ठा हुआ करेंगे. इस दौरान उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, डिप्टी स्पीकर राखी बिड़लान, मंत्री व विधायक मौजूद रहे.

Tags: Arvind kejriwal, New Delhi news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *