कोरोना के दौर में भी इस यूनिवर्सिटी में हुआ 90% छात्रों का प्लेसमेंट, दी गई 25 लाख रुपये की सैलेरी

नई दिल्ली. अपनी पढ़ाई पूरी करिए और कॉलेज की तरफ से नौकरी प्लेसमेंट भी पाइए. आज देश के ज्यादातर कॉलेज इस तरह का दावा कर रहे हैं. पर असम की डाउन टाउन यूनिवर्सिटी ने अपने इस वादे को पूरा किया है. असम डाउन टाउन यूनिवर्सिटी (AdtU) ने दावा किया है कि उन्होंने 2019-2020 बैच के 90 प्रतिशत छात्रों को प्लेसमेंट दिया है. कॉलेज प्रशासन का कहना है कि 2019-2020 के बैच के जिन छात्रों का प्लेसमेंट हुआ है उन्हें 4 लाख से 25 लाख रुपये प्रति वर्ष का पैकेज मिला है. आधिकारिक बयान के अनुसार, विश्वविद्यालय ने 300 से अधिक कंपनियों के साथ टाइअप किया है, ताकि वहां पढ़ने वाले छात्रों को आसानी से नौकरी मिल सके. पिछले बैच में छात्रों को लगभग 700 से ज्यादा नौकरी के प्रस्ताव कंपनी की ओर से दिए गए हैं.

यूनिवर्सिटी प्रशासन का कहना है कि उन्होंने Amazon, BYJU’s, Wipro, TCS, Cognizant, Capgemini, IBM, HCL, Accenture, P&G, सिप्ला, नेस्ले, HP, जेनपैक्ट, अपोलो ग्रुप, NIMHANS, ताज चेन्नई, लेमन ट्री ग्रुप जैसी बहुराष्ट्रीय और राष्ट्रीय फर्मों के साथ भागीदारी की है. बयान में कहा गया है कि वहां पढ़ने वाले छात्रों को अच्छी जगह प्लेसमेंट मिल सके इसके लिए वह हर तरह से कोशिश कर रहे हैं.

असम डाउन टाउन यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ एनसी तालुकदार ने कहा, महामारी और लॉकडाउन के दौरान जब हर जगह बड़ी संख्या में नौकरियों में कटौती हो रही है, हम बेहद खुश हैं कि हमारे 90 प्रतिशत से अधिक छात्रों को बहुत ही कम समय में प्लेसमेंट मिल गया है. उन्होंने कहा, हम कोशिश करेंगे कि आने वाले समय में हमारी यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले शत-प्रतिशत छात्रों को प्लेसमेंट मिल जाए.

[embedded content]

देश की एक प्रतिष्ठित कंपनी में नौकरी करने वाले यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्र ने कहा कि वहां सिर्फ पढ़ाई ही नहीं होती है बल्कि छात्रों को सही तरीके से मार्केट की जानकारी मिल सके, ऑफिस में क्या हो जाता है, कैसी स्थितियां हैं इसका अंदाजा लग सके इसके लिए प्रैक्टिस कर्रवाई जाती है. उ

Tags: Assam, Assam news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *