कोरोना के बाद मंडराया मंकीपॉक्स वायरस, जानें लक्षण- कारण और बचाव

कोरोना के बाद मंडराया मंकीपॉक्स वायरस, जानें लक्षण- कारण और बचाव

<!–

–>

क्या है मंकीपॉक्स?

क्या है मंकीपॉक्स?

मंकीपॉक्स एक दुर्लभ जूनोटिक वायरल रोग है जो एक छूत की बीमारी है। यह बीमारी ज्यादातर मध्य और पश्चिमी अफ्रीका के उष्णकटिबंधीय वर्षावन क्षेत्रों में पाई जाती है। लेकिन फिलहाल इसके 2 मामले यूके में पाए गए हैं। UK के पब्लिक हेल्‍थ वेल्‍स के स्‍वास्‍थ्‍य सुरक्षा सलाहकार रिचर्ड फर्थ ने कहा है, यूनाइडेट किंगटम में मंकीपॉक्स के 2 मामलों की पुष्टि होना दुर्लभ घटना है। यह एक बहुत ही संक्रामक संक्रमण है और किसी संक्रमित व्यक्ति या पशु के साथ शारीरिक संपर्क के माध्यम से फैलती है।

<!–

–>

कैसी फैलती है ये बीमारी ?

कैसी फैलती है ये बीमारी ?

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) इसे फैलाने वालों में मेजबान जानवरों की लिस्ट जारी की है जिसमें डॉर्मिस , ट्री गिलहरी, गैम्बियन पाउच वाले चूहे , रस्सी गिलहरी और प्राइमेट शामिल हैं।

<!–

–>

WHO ने बताया खतरनाक

WHO ने बताया खतरनाक

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, मंकीपॉक्स वायरस के कारण एक ऐसी बीमारी होती है, जिसके लक्षण स्‍मॉल पॉक्‍स जैसे होते हैं। इसकी चपेट में आने वाले हर 10वें व्यक्ति की मौत हो सकती है, जिसमें अधिकांश मौतें कम आयु वर्ग में होती हैं।

इसकी चपेट में आने के बाद अगर आपके शरीर के चकत्ते घाव में परिवर्तित होने लगें और उसमें अधिक दर्द मेहसूस हो तो समझ लेना चाहिए कि ये आपके लिए जोखिम भरी हो सकती है। WHO का भी यही कहना है कि इस बीमारी से ग्रसित 100 में से 10 मरीजों की मौत होने की आशंका होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *