कौन थे मुगलों को हराने वाले लचित बोरफुकन जिनकी 400 वीं जयंती मना रहा है देश

सीनियर जर्नलिस्ट अनुराग शर्मा ने इसके बारे में फेसबुक में एक विस्तृत पोस्ट लिखी है. दरअसल अहोम राजा ही सेना का सर्वोच्च सेनापति भी होता था. युद्ध के समय सेना का नेतृत्व खुद करता था. इनकी सेना दो तरह के लोगों से बनी थी.एक जो सेना के स्थायी अंग थे और दूसरे जो अस्थायी. अहोम सेना की टुकड़ी में पैदल सेना, नौसेना, तोपखाने, हाथी, घुड़सवार सेना और जासूस शामिल थे. युद्ध में वो तलवार, भाला, बंदूक, तोप, धनुष और तीर इस्तेमाल करते थे.(wiki commons)

Share
Facebook Twitter Pinterest Linkedin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *