छह लोगों का एक PNR, कुछ का टिकट कंफर्म हुआ और कुछ का वेटिंग रह गया, तो क्‍या है नियम

नई दिल्‍ली. अगर आप परिवार या दोस्तों के साथ घूमने की योजना बनाते हैं और ट्रेन का टिकट बुक करते हैं लेकिन आपको कंफर्म टिकट नही मिलता है. ऐसे में आप वेटिंग टिकट लेते हैं. यात्रा के अनुसार आप संबंधित शहर में होटल आदि सब बुक करा लेते हैं. लेकिन यात्रा वाले दिन सभी यात्रियों के टिकट कन्फर्म नही हुए. यानी कुछ के कंफर्म हुए हैं और कुछ लोगों का वेटिंग रह गया. ऐसे में सवाल उठता है कि क्‍या सभी लोग सफर कर सकते हैं या जिनकी सीट सीट कंफर्म हुई है, केवल वही सफ़र कर सकते हैं. इस संबंध में रेलवे के अधिकारियों ने जवाब दिया है.

नियम के अनुसार एक पीएनआर में छह यात्रियों का टिकट बुक किया जा सकता है. छह में से कुछ यात्रियों का ही टिकट कंफर्म हुआ है तो वे सभी लोग ट्रेन में सफर कर सकते हैं, जिनका पीएनआर नंबर एक ही है. क्‍योंकि अगर ई टिकट है तो पीएनआर में एक भी टिकट कंफर्म हुआ है तो वो स्‍वत: निरस्‍त नहीं होता है. हां, लेकिन अगर पीएनआर में एक भी यात्री का टिकट कंफर्म नहीं होता है तो टिकट स्‍वत: निरस्‍त हो जाएगा और रुपये रिफंड हो जाएंगे. इसी तरह अगर एक पीएनआर में कुछ आरएसी और कुछ वेटिंग हैं तो ट्रेन में सभी लोग सफर कर सकते हैं.

आपके शहर से (दिल्ली-एनसीआर)

राज्य चुनें
दिल्ली-एनसीआर

राज्य चुनें
दिल्ली-एनसीआर

16 करोड़ सालाना वेटिंग टिकट बुक होते हैं

रेलवे बोर्ड के अनुसार कोरोना से पूर्व ट्रेनों में सालाना करीब 16 करोड़ वेटिंग टिकट बुक होते थे. इनमें से करीब 7 करोड़ से अधिक पैसेंजरों को वेटिंग टिकट ट्रेन छूटने से पहले कन्फर्म हो जाते थे और करीब 9 करोड़ के कन्फर्म नहीं हो पाते थे.

देश के सबसे अधिक व्यस्त नेटवर्क

दिल्ली-हावड़ा

हावड़ा- मुंबई

मुंबई- दिल्ली

दिल्ली-गुवाहाटी

दिल्ली-चेन्नई

चेन्नई-हावड़ा

चेन्नई-मुंबई

Tags: Indian railway, Indian Railway news, Indian Railways, Train

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *