दिल्ली AIIMS का सर्वर डाउन, मरीजों को हुई परेशानी, ओपीडी और सैंपल कलेक्शन का काम प्रभावित

हाइलाइट्स

बुधवार सुबह 7 बजे से दिल्ली एम्स का सर्वर डाउन.
ओपीडी में रजिस्ट्रेशन और सैंपल कलेक्शन का काम हुआ प्रभावित.
अस्पताल प्रशासन मैनुअली कर रहा है सभी काम.

नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में बुधवार को सर्वर में गड़बड़ी के चलते अस्पताल में मरीजों के रजिस्ट्रेशन और सैंपल लेने की प्रक्रिया ठप हो गई. अस्पताल प्रशासन ने कहा कि सर्वर रैंसमवेयर हमले के चलते डाउन हो गया. बुधवार शाम को जारी एक बयान में अस्पताल प्रशासन ने कहा कि शाम साढ़े सात बजे तक मैन्युअल तरीके से सेवाएं दी जा रही थीं. अस्पताल प्रशासन ने कहा, ‘आज एम्स नई दिल्ली में उपयोग किए जा रहे राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र के ई-अस्पताल का सर्वर डाउन था, जिसके कारण स्मार्ट लैब, बिलिंग, रिपोर्ट जनरेशन, अपॉइंटमेंट सिस्टम आदि सहित कई सेवाएं प्रभावित हुई हैं. हालांकि ये सभी सेवाएं फिलहाल मैनुअल मोड पर चल रही हैं.’

एम्स ने एक बयान में कहा कि एम्स में काम कर रही राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) की एक टीम ने सूचित किया है कि यह एक रैंसमवेयर हमला हो सकता है. उचित कानून प्रवर्तन अधिकारी इसकी जांच करेंगे. एम्स के एक अधिकारी ने कहा, “सर्वर बंद होने से स्मार्ट लैब, बिलिंग, रिपोर्ट जनरेशन और अपॉइंटमेंट सिस्टम समेत ओपीडी और आईपीडी डिजिटल अस्पताल सेवाएं प्रभावित हुई हैं.”

एम्स ने बयान में कहा कि डिजिटल सेवाएं बहाल करने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं और भारतीय कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम (सीईआरटी-इन) व एनआईसी की मदद ली जा रही है. बयान में कहा गया है, “भविष्य में इस तरह के हमलों को रोकने के लिए एम्स और एनआईसी उचित सावधानी बरतेंगे. शाम साढ़े सात बजे तक अस्पताल सेवाएं मैनुअल मोड पर प्रदान की जा रही हैं.”

आपके शहर से (दिल्ली-एनसीआर)

राज्य चुनें
दिल्ली-एनसीआर


  • धार्मिक उपवास के दौरान सत्येंद्र जैन को नियमानुसार भोजन मुहैया कराएं, कोर्ट का निर्देश

    धार्मिक उपवास के दौरान सत्येंद्र जैन को नियमानुसार भोजन मुहैया कराएं, कोर्ट का निर्देश


  • जीडीए बोर्ड बैठक में कई अहम प्रस्‍ताव पेश, जानें सबसे खास

    जीडीए बोर्ड बैठक में कई अहम प्रस्‍ताव पेश, जानें सबसे खास


  • बिजली संशोधन विधेयक- 2022 के विरोध में दिल्ली में प्रदर्शन, कई यूनियनों ने दिया केंद्र सरकार को यह अल्टीमेटम

    बिजली संशोधन विधेयक- 2022 के विरोध में दिल्ली में प्रदर्शन, कई यूनियनों ने दिया केंद्र सरकार को यह अल्टीमेटम


  • बीजेपी पहली पार्टी जो बिना चुनाव लड़े भी मुस्लिमों को बनाती है मंत्री, बोले-BJP ओबीसी मोर्चा प्रमुख डॉ. लक्ष्‍मण

    बीजेपी पहली पार्टी जो बिना चुनाव लड़े भी मुस्लिमों को बनाती है मंत्री, बोले-BJP ओबीसी मोर्चा प्रमुख डॉ. लक्ष्‍मण


  • आयुष मंत्रालय ऑस्‍ट्रेलिया में खोलने जा रहा एकेडमिक चेयर, आयुर्वेद की कर सकेंगे पढ़ाई

    आयुष मंत्रालय ऑस्‍ट्रेलिया में खोलने जा रहा एकेडमिक चेयर, आयुर्वेद की कर सकेंगे पढ़ाई


  • पंजाब में अब तक सामने आए डेंगू के 9 हजार से ज्‍यादा मामले, 16 की हुई मौत

    पंजाब में अब तक सामने आए डेंगू के 9 हजार से ज्‍यादा मामले, 16 की हुई मौत


  • आरआरटीएस स्‍टेशन तक चलेंगी फीडर बसें, ये है योजना

    आरआरटीएस स्‍टेशन तक चलेंगी फीडर बसें, ये है योजना


  • 'चुनाव आयुक्त की नियुक्ति में चीफ जस्टिस से भी लिया जाए परामर्श', सुप्रीम कोर्ट की अहम टिप्पणी

    ‘चुनाव आयुक्त की नियुक्ति में चीफ जस्टिस से भी लिया जाए परामर्श’, सुप्रीम कोर्ट की अहम टिप्पणी


  • DUET Result 2022: इस विषय के लिए जारी हुआ डीयू प्रवेश परीक्षा का रिजल्ट, जान लें कहां करना है चेक

    DUET Result 2022: इस विषय के लिए जारी हुआ डीयू प्रवेश परीक्षा का रिजल्ट, जान लें कहां करना है चेक


  • श्रद्धा मर्डर केस: आफताब को बेनकाब करेगी ब्रेन मैपिंग! एक्सपर्ट बोले- ऐसे लोग मानसिक बीमार नहीं, लेकिन...

    श्रद्धा मर्डर केस: आफताब को बेनकाब करेगी ब्रेन मैपिंग! एक्सपर्ट बोले- ऐसे लोग मानसिक बीमार नहीं, लेकिन…


  • Delhi Judicial Service Result 2022: दिल्ली न्यायिक सेवा परीक्षा के परिणाम घोषित, अब करना होगा ये काम

    Delhi Judicial Service Result 2022: दिल्ली न्यायिक सेवा परीक्षा के परिणाम घोषित, अब करना होगा ये काम

राज्य चुनें
दिल्ली-एनसीआर

सर्वर डाउन होने के चलते सबसे ज्यादा परेशानी दूर-दराज इलाकों से आने वाले मरीजों को हुई. अस्पताल प्रशासन का कहना है कि जल्द ही सर्वर को ठीक कर लिया जाएगा. एक अन्य अधिकारी ने कहा कि ओपीडी और नमूना संग्रह सेवाएं ‘मैनुअल मोड’ में प्रदान की गईं.

Tags: Delhi, Delhi AIIMS

Share
Facebook Twitter Pinterest Linkedin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *