दुश्मन के छक्के छुड़ाने को स्वदेश निर्मित नौसेना के 2 'डाइविंग सपोर्ट वेसेल' तैयार, खासियत जानकर रह जाएंगे हैरान!

हाइलाइट्स

भारतीय नौसेना के 2 डाइविंग सपोर्ट वेसेल आज होंगे लॉंच
ये वेसेल पूरी तरह से स्वदेशी तकनीक पर आधारित हैं.
इसका निर्माण और डिजाइन HSL विशाखापत्तनम ने किया है.

विशाखपत्तनम:  विशाखपत्तनम स्थित हिंदुस्तान शिपयार्ड लिमिटेड (HSL) ने भारतीय नौसेना के लिए दो डाइविंग सपोर्ट वेसेल तैयार किये हैं. इसका जलावतरण आज विशाखापत्तनम में नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार और उनकी पत्नी कला हरि कुमार की मौजूदगी में होगा. 2,392.94 करोड़ रुपये की लागत वाले वेसेल का डिजाइन तथा निर्माण हिंदुस्तान शिपयार्ड लिमिटेड, विशाखापत्तनम ने वर्ष 2018 में शुरू किया था. भारतीय नौसेना के नियमों का पालन करते हुए स्वदेशी रूप से डिजाइन किए गए अपनी तरह के पहले जहाजों का निर्माण किया गया है. भारतीय नौसेना का 2047 तक पूरी तरह से आत्मनिर्भर होने की राह पर स्वदेशी वेसेल निर्माण अपने आप में एक बड़ा कदम है.

क्षमता
9350 टन वजनी ये वेसेल 118.4 मीटर लंबा है और 22.8 मीटर चौड़ा है. इसमें एक साथ 215 कर्मियों को ले जाने की क्षमता है. यह समुद्र में एक आत्मनिर्भर मंच है और समुद्र में 60 दिनों की अवधि के लिए निरंतर परिचालन कर सकता है. ये वेसेल भारतीय नौसेना की डीप वाटर ऑप्रेशन क्षमता को दोगुना बढ़ाएगा. गौरतलब हो कि ये वेसेल डीप सबमर्जेंस रेस्क्यू व्हीकल (DSRV) के साथ पनडुब्बी बचाव अभियान चलाने में सक्षम रहेगा, जिससे भारतीय नौसेना की ताकत बढ़ेगी.

डिजाइन
ये स्वदेशी डाइविंग सपोर्ट वेसेल शिप लगातार पेट्रोलिंग, राहत बचाव अभियान और हाई सी में हेलीकॉप्टर के संचालन करने में भी सक्षम होगा. स्वदेशी एयरक्रफ्ट कैरियर, डेस्ट्रायर, फ्रीगेट, सबमरीन के बाद अब भारतीय नौसेना के बेड़े में शामिल होने के लिए पूरी तरह तैयार है.

एडवांस हेलीकॉप्टर से होगा लैस
यह ट्विन शाफ्ट कंट्रोलर पिच प्रोपेलर कॉन्फ़िगरेशन से लैस है. इसमें 5.4 मेगावाट के दो डीजल इंजन और 12 मेगावाट की कुल क्षमता वाले पांच डीजल जेनरेटर हैं. आरओवी और साइड स्कैन सोनार के सपोर्ट के साथ यह एडवांस हल्के हेलीकॉप्टर/नौसेना की उपयोगिता वाले हेलीकॉप्टर के साथ संचालन करने में सक्षम होगा. (भाषा इनपुट के साथ)

Tags: Indian navy, Visakhapatnam

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *