पंजाब में गन कल्चर पर सरकार का बड़ा एक्शन, 9 दिन में 900 हथियारों के लाइसेंस रद्द

हाइलाइट्स

पंजाब में गन कल्चर पर पुलिस का बड़ा एक्शन
अब तक 900 लोगों के लाइसेंस रद्द
300 से ज्यादा लोगों को कारण बताओ नोटिस जारी

(एस. सिंह)

चंडीगढ़: पंजाब में गन कल्चर को खत्म करने के लिए सरकार और पुलिस का बड़ा एक्शन सामने आया है. प्रशासन ने हथियारों की समीक्षा करने के बाद 9 दिन में करीब 900 हथियारों के लाइसेंस रद्द कर दिए हैं. जबकि 300 से ज्यादा लोगों के हथियारों के लाइसेंस सस्पेंड कर, उन्हें कारण बताओं नोटिस जारी किया गया है. उनसे पूछा गया है कि हथियारों की आवश्यकता क्यों है.

फर्जी पतों पर पाए गए लाइसेंस
हथियारों की जांच के दौरान पाया गया कि अधिकांश हथियार लाइसेंसों के पते फर्जी हैं. कुछ लोगों के पास पुराने नियम के मुताबिक एक लाइसेंस पर तीन-तीन हथियार भी पाए गए हैं. जबकि केंद्र सरकार के संशोधित नियम के अनुसार अब एक व्यक्ति, एक लाइसेंस पर एक ही हथियार रख सकता है. नियम बदलने के बाद इन लोगों को अपने हथियार सरेंडर करने थे, जबकि इन लोगों ने संबंधित थानों में हथियार ही जमा नहीं करवाए

जांच के बाद सबसे ज्यादा 391 लाइसेंस जालंधर में रद्द किए गए हैं. वहीं रोपड़ में 146, नवांशहर में 266, मोहाली में 32, तररनतारन में 19, कपूरथला में 17, फिरोजपुर में 25, पठानकोट में 01 लाइसेंस रद्द किया जा चुका है. इसके अलावा पटियाला में 274 और नवांशहर में 50 लाइसेंस सस्पेंड किए गए हैं.

पंजाब में करीब 4 लाख लोगों के पास हथियार
आपको बता दें कि पंजाब में हर समुदाय के लोगों के पास करीब 4 लाख लाइसेंसी हथियार हैं, जो राज्य पुलिस के हथियारों के जखीरे से 3 गुना अधिक हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक पंजाब पुलिस के पास करीब 1.25 लाख से थोड़े ज्यादा हथियार हैं. इस साल पंजाब में हुए विधानसभा चुनाव से पहले लोगों को अपने लाइसेंसी हथियार संबंधित थानों में जमा करवाने का आदेश दिया गया था. चुनाव आयोग ने इस दौरान खुलासा किया था कि राज्य में 3,90,170 लाइसेंसी हथियार हैं. इसके अलावा पुलिस ने चुनाव के दौरान बड़ी संख्या में अवैध हथियार बरामद किए थे. पंजाब के लोगों को ज्यादातर हथियारों के लाइसेंस आतंकवाद के दौर में जारी किए गए थे. आतंकवाद खत्म होने के बाद यह हथियार पंजाब के लोगों के लिए स्टेटस सिंबल बन गए.

Tags: CM Bhagwant Mann, Punjab news, Punjab Police

Share
Facebook Twitter Pinterest Linkedin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *