पीलीभीत: फंदे से लटकी मिली पिता की लाश, बिस्तर पर दो बच्चों के शव, पुलिस कर रही तांत्रिक की तलाश

हाइलाइट्स

उत्‍तर प्रदेश पुलिस ने पूछताछ शुरू की

पीलीभीत (उप्र). उत्‍तर प्रदेश के पीलीभीत जिले के दियुरिया क्षेत्र में बुधवार को एक व्यक्ति और उसके दो बच्चों के शव संदिग्ध हालात में उनके घर में पाए गए. पुलिस के मुताबिक, ऐसा लगता है कि अंधविश्वास में सभी की जान गई है. पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी. ने बताया कि बुधवार सुबह दियोरिया कलां थाना क्षेत्र के रमबोझा गांव के निवासी निवासी बालकराम (45) का शव उसे घर में फंदे से लटकता मिला जबकि उसके बेटे निहाल (11) और बेटी शालिनी (15) के शव बिस्तर पर पड़े थे.

उन्होंने कहा कि बालकराम के 14 साल के बेटे प्रभात ने पुलिस को बताया कि मंगलवार की रात परिवार के सभी लोगों ने खाना खाया और सोने चले गए तथा बहन शालिनी, भाई निहाल और पापा एक कमरे से सो रहे थे और वह दूसरे कमरे में सोने चला गया था. अधिकारी के अनुसार, प्रभात ने कहा कि वह जब सुबह जागा तो देखा बहन शालिनी और भाई के शव पलंग पर पड़े मिले तथा दूसरे कमरे में पिता का शव फंदे पर लटका हुआ था. उसने तुरंत इसकी जानकारी अपने चाचा को दी.

अंधविश्वास में हत्या और आत्महत्या किए जाने 

उन्होंने बताया कि प्रभात का कहना है कि उसके पिता बालकराम और बहन पर कोई प्रेत छाया थी जिसके ‘निदान’ के लिए पिछले एक साल से परिवार किसी तांत्रिक के संपर्क में था. तांत्रिक के बारे में पता लगाया जा रहा है. पुलिस अधीक्षक के मुताबिक, प्रभात की बात के आधार पर फिलहाल अंधविश्वास में हत्या और आत्महत्या किए जाने की बात सामने आ रही है, मगर मौत का मुख्य कारण पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद पता चलेगा. पुलिस के स्तर से जुटाई गई जानकारी के अनुसार ऐसा लगता है कि अंधविश्वास के फेर में बालकराम ने पहले अपने बच्चों की हत्या की और बाद में खुद फांसी लगा ली. अधिकारी ने कहा कि शवों का पोस्टमॉर्टम चिकित्सकों के पैनल से कराया गया है. उन्होंने कहा कि पूरे घटनाक्रम की गहराई से जांच की जा रही है और पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के आधार पर कारर्वाई की जाएगी.

Tags: Pilibhit news, Uttar Pradesh Crime

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *