पूर्णिया में पीएफआई के ठिकानों पर एनआईए की छापेमारी, गिरिराज सिंह बोले- बिहार में कई स्लीपर सेल

पूर्णिया. गृह मंत्री अमित शाह कल पूर्णिया के रंगभूमि मैदान में जन भावना सभा को संबोधित करने के लिए आ रहे हैं. अमित शाह के कार्यक्रम के ठीक पहले पूर्णिया के राजा बाड़ी में स्थित पीएफआई यानी पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के प्रदेश कार्यालय पर एनआईए की छापामारी की गई. एनआईए की टीम सुबह करीब 3:30 बजे से ही यहां पहुंच गई थी. टीम अंदर में कागजातों की जांच की है. टीम के कई सदस्य यहां मौजूद रहे.

बताया जा रहा है कि एनआईए के एसपी खुद पहुंचे. हालांकि, एनआईए की टीम के सदस्यों ने मीडिया को कुछ भी जानकारी देने से मना कर दिया. बता दें कि गृह मंत्री अमित शाह के पूर्णिया आगमन को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं और यहां केंद्रीय सुरक्षा बल तैनात हैं. पीएफआई के ठिकानों पर छापेमारी के साथ ही आसपास के इलाके और सड़कों पर सन्नाटा छाया हुआ है.

बता दें कि पूर्णिया के राजा बाड़ी में स्थित पीएफआई का प्रदेश कार्यालय कई महीनों में संवेदनशील रहा है. ऐसे में अमित शाह के पूर्णिया आगमन के ठीक पहले इस छापेमारी से ऐसा माना जा रहा है कि खुफिया एजेंसियों को कुछ विशेष जानकारी मिली होगी. हालांकि, इससे पहले भी एनआईए की टीम पीएफआई के कई कार्यालयों में पूरे देश में छापेमारी कर चुकी है.

पूर्णिया समेत देश के कई ठिकानों मे आज पीएफआई के कार्यालयों में एनआईए की टीम छापामारी के बाबत केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि पीएफआई आतंकवादी संगठन है. पहले यह सिमी था. जब उस पर प्रतिबंध लगा तो वह पीएफआई बन गया. गिरिराज सिंह ने कहा कि राजनीतिक संरक्षण और तुष्टिकरण की राजनीति के चलते पीएफआई जैसे आतंकवादी संगठन फल फूल रहे हैं.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि जब फुलवारी शरीफ में पुलिस ने कुछ लोगों को पकड़ा और वहां से जो दस्तावेज मिले, उससे स्पष्ट हो गया कि यह लोग देश को तोड़ने की बात कर रहे हैं. पूरे देश को मुस्लिम राष्ट्र बनाना चाहते हैं और इसके लिए यह जन भावना को भड़का कर यहां का माहौल बिगाड़ रहे हैं. इसके लिए उन्हें बाहर से फंडिंग होती है.

गिरिराज सिंह ने कहा कि लालू यादव और नीतीश कुमार जैसे लोग तुष्टिकरण की राजनीति कर देश तो बर्बाद कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि पूर्णिया को पीएफआई ने अपना सेंटर बना लिया है. बिहार मैं आतंकवादियों का स्लीपर सेल बन गया है. इसके बावजूद भी राजनीतिक संरक्षण और तुष्टिकरण के चलते ऐसे संगठनों को बढ़ावा मिल रहा है. छापेमारी की बाबत पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि कानून अपना काम कर रहा है.

Tags: Bihar News, NIA, PFI, Purnia news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *