पूर्व मंत्री कृष्णेन्द्र कौर दीपा बोली- राजनीतिक छवि बिगाड़ने के लिए दर्ज कराया गया है केस

हाइलाइट्स

राजनीति में 38 साल से कभी मेरे खिलाफ ऐसी घटना का केस दर्ज नहीं हुआ-दीपा
जनता को परेशानी से बचाने के लिए मैंने कांस्टेबल को बोला था कि जाम जल्दी खुलवाओ

भरतपुर. पूर्व मंत्री कृष्णेन्द्र कौर दीपा (Krashnendra kaur Deepa) ने आरोप लगाया है कि नदबई विधायक जोगिंदर सिंह अवाना (Joginder singh Awana) के नजदीकी के माध्यम से उनकी छवि खराब करने का प्रयास किया जा रहा है. उनके खिलाफ पुलिस कांस्टेबल (Police constable) द्वारा दर्ज कराया गया मामला बिल्कुल झूठा है. भाजपा नेत्री ने दावा किया कि उन्होंने किसी को थप्पड़ भी नहीं मारा. अगर शराब पीने का आरोप है तो उसे एफआईआर में लिखना चाहिए था. आरोप लगाने वालों ने इसे मुकदमे में दर्ज क्यों नहीं करवाया.

पूर्व मंत्री कृष्णेन्द्र कौर दीपा ने प्रेस वार्ता में बताया कि वह अपने मोती झील कोठी से क्षेत्र के कार्यक्रम में लौट रही थी. रास्ते में अखड्ड तिराहे पर जाम मिला. मैंने कार के ड्राइवर को बोला कि किसी पुलिस अधिकारी को बोलो, जिससे जाम खुलवाया जा सके. इतनी ही देर में एक पुलिसकर्मी मेरी खिड़की के पास आया तब मैंने शीशा नीचे किया. मैंने उसको बोला जाम को जल्दी खुलवाओ इससे जनता परेशान हो रही है.

Raju Thehat Murder Case: राजस्थान पुलिस की बड़ी कामयाबी, पांचों शूटर्स को दबोचा, CM गहलोत ने दी जानकारी

आपके शहर से (भरतपुर)

राजस्थान
भरतपुर

राजस्थान
भरतपुर

नदबई विधायक का नजदीकी है कांस्टेबल

उन्होंने बताया कि दूसरे दिन शनिवार को वो जयपुर गई हुई थी. फिर मुझे मीडिया के माध्यम से पता चला कि मेरे खिलाफ एक कांस्टेबल ने मामला दर्ज करवाया है. जो कि झूठा मुकदमा है. मामला दर्ज करवाने वाला पुलिसकर्मी गजराज सिंह कांस्टेबल है. जो जाती से गुर्जर है और उच्चैन का रहने वाला है. दीपा ने दावा किया कि वह नदबई विधायक जोगिंदर सिंह अवाना का नजदीकी है.

विधायक जनता के विरोध और आक्रोश से भयभीत

पूर्व मंत्री ने कहा कि इससे साफ जाहिर होता है मेरे राजनीतिक छवि को खराब करने के उद्देश्य से यह किया गया है. मेरे परिवार की छवि को धूमिल करने के लिए झूठा मुकदमा करवाया गया है. चुनाव नजदीक है जनता में आक्रोश है. विधायक जनता के विरोध और आक्रोश से भयभीत है. इसलिए भ्रष्टाचार और अपनी कमियों को छुपाने के लिए यह मुकदमा दर्ज करवाया है. पूर्व मंत्री दीपा ने कहा कि वह करीब 38 साल राजनीति में हैं.  कभी मेरे खिलाफ ऐसी घटना का मुकदमा दर्ज नहीं हुआ. न कभी मैंने गलत बात की है. मुक़दमे की जांच करने वाले अधिकारी को हम पूरा सहयोग देंगे, जिससे जांच सही तरीके से हो सके.

हम जनता के और जनता हमारे साथ है

पूर्व सांसद दिव्या सिंह के आरोप पर उन्होंने कोई भी प्रतिक्रिया देने से इंकार कर दिया है जब उनसे इस बारे में सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा, नो कमेंट्स. एक अन्य सवाल के जवाम में पूर्व मंत्री दीपा ने कहा कि वैसे तो प्रदेश में कांग्रेस की सरकार है. कांग्रेस सरकार में भी जांच सही हो सकती है, लेकिन किसी का प्रेशर आने से यह ठीक नहीं होती है. क्योंकि हमारे साथ जनता है, हम जनता के लिए हैं. हमने कभी ऐसा काम नहीं किया, जिसे जनता का कोई नुकसान हो.

Tags: Bharatpur News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *