पेपर लीक माफिया पर बुलडोजर वार: भूपेन्द्र सारण का बंगला ढहाया, रोने लगी पत्नी, पढ़ें अपडेट

हाइलाइट्स

पेपर लीक माफिया भूपेन्द्र सारण अभी फरार चल रहा है
भूपेन्द्र का बंगला तोड़ने के लिए दस्ता अलसुबह ही पहुंच गया
माफिया का बंगला तोड़ने के दौरान वहां लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई

रोशन शर्मा.

जयपुर. उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार की तर्ज पर इस बार राजस्थान में भी गहलोत सरकार बुलडोजर लेकर एक्शन (Bulldozer Action) में आ गई है. आरपीएससी का पेपर लीक करने वाले माफिया भूपेन्द्र सारण (Paper Leak Mafia Bhupendra Saran) के राजधानी जयपुर स्थित बंगले पर आज बुलडोजर चला दिया गया है. जेडीए का दस्ता शनिवार को अलसुबह ही अपने लाव लश्कर के साथ पेपर लीक के फरार चल रहे मास्टर माइंड भूपेन्द्र सारण के बंगले पर पहुंचा और वहां बुलडोजर ने अपनी कार्रवाई शुरू कर दी है. इस दौरान वहां भारी भीड़ एकत्र हो गए. बंगले को ध्वस्त होता देखकर सारण की पत्नी और अन्य परिजन रो पड़े.

जयपुर विकास प्राधिकरण ने यह कार्रवाई टीचर भर्ती परीक्षा का पेपर लीक करने के मुख्य आरोपी भूपेन्द्र सारण के जयपुर में अजमेर रोड स्थित रजनी विहार कॉलोनी में की है. इस बीच पेपर लीक केस की फॉलोअप कार्रवाई में गिरफ्तार की गई भूपेन्द्र सारण की पत्नी एलची और उसके भाई गोपाल सारण की पत्नी इंदुबाला को जमानत मिल गई. इस पर वे मकान पर पहुंची. वहां पहले से मौजूद भारी पुलिस फोर्स और कर्मचारियों के साथ पहुंचे जेडीए के दस्ते ने बंगले से सामान को निकालकर भूपेन्द्र की पत्नी और उनके परिजनों के सुपुर्द कर दिया और बाद में बंगले को ध्वस्त करने की अपनी कार्रवाई शुरू कर दी है. हालांकि यह कार्रवाई शुक्रवार शाम को शुरू कर दी गई थी लेकिन बाद में रात हो जाने के कारण उसे पूरा नहीं किया जा सका था. इसलिए जेडीए की टीम अलसुबह ही वहां पहुंच गई.

आपके शहर से (जयपुर)

राजस्थान
जयपुर

राजस्थान
जयपुर

RPSC Paper Leak Case: फरार सरगनाओं भूपेंद्र सारण और सुरेश ढाका पर 25-25 हजार का इनाम घोषित 

जेडीए ट्रिब्यूनल कोर्ट के फैसले के बाद तोड़ा गया
यह कार्रवाई जेडीए ट्रिब्यूनल कोर्ट का फैसला आने के बाद की गई है. पहले पोकलैंड और हैमर मशीन की मदद से बंगले के अवैध हिस्से को तोड़ा जा रहा है. इस अवैध निर्माण को ध्वस्त होने से बचाने के लिए सारण के परिजनों कोर्ट में याचिका लगाई थी. लेकिन कोर्ट ने उनकी याचिका को खारिज कर दिया था. जेडीए ट्रिब्यूनल कोर्ट ने जेडीए को अवैध निर्माण हटाने के आदेश दिए. इसके साथ ही साइट प्लान के अनुसार निर्माण को प्रोटेक्ट करने के लिए भी पाबंद किया था.

पिछले दिनों जयपुर में माफियाओं के अधिगम कोचिंग पर चला था बुलडोजर
उल्लेखनीय है कि बीते दिनों राजस्थान में राजस्थान लोक सेवा आयोग की ओर से आयोजित शिक्षक भर्ती परीक्षा का सामान्य ज्ञान का पेपर लीक हो गया था. राजस्थान में लगातार लीक हो रहे पेपर की कड़ी में एक और पेपर लीक हो जाने से सूबे की गहलोत सरकार चौतरफा घिर गई थी. हालांकि इस मामले में पुलिस ने 55 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था. लेकिन पेपर लीक के मास्टर माइंड भूपेन्द्र सारण और सुरेश ढाका फरार हो गए. ये दोनों अभी तक पुलिस के हाथ नहीं आए हैं. इस पर राजस्थान पुलिस ने उन पर 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित कर रखा है. पुलिस ने बीते दिनों इन माफियाओं के जयपुर स्थित अधिगम कोचिंग सेंटर पर भी बुलडोजर चला दिया था.

Tags: Ashok Gehlot Government, Jaipur news, Paper Leak, Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *