प्रेमिका ने मिलाया प्रेमी को फोन, बोली- प्रेग्नेंसी किट लेकर घर आ जाओ, जमकर हुआ विवाद और फिर…

हाइलाइट्स

महिला रेलकर्मी की हत्या के संबंध में पुलिस ने किया चौंकाने वाला खुलासा
रेलकर्मी की हत्या के आरोप में प्रेमी राहुल कुमार प्रजापति गिरफ्तार
महिला रेलकर्मी विधवा थी और रेलवे में उसे अनुकंपा नियुक्ति मिली थी

चंदौली.  चंदौली जिले के मुगलसराय कोतवाली क्षेत्र में महिला रेलकर्मी खुशबू की हत्या के संबंध में पुलिस ने चौंकाने वाला खुलासा किया. पुलिस के मुताबिक, खुशबू की हत्या उसमे प्रेमी राहुल कुमार प्रजापति उर्फ बिट्टू (ग्राम ओडवार निवासी) ने ही की थी. दोनों के प्रेम प्रसंग चल रहा था. खुशबू विधवा थी और रेलवे में उसे अनुकंपा नियुक्ति मिली थी. राहुल भी विधुर था. दोनों के बीच प्रेम परवान चढ़ा तो दोनों ने एकसाथ जीने मरने की कसमें भी खाईं. इस दौरान दोनों ने आपस में संबंध भी बनाए. खुशबू पर शादी करने का राहुल की ओर से दबाव बनाया जा रहा था लेकिन वह इसके लिए राजी नहीं थी. दो दिन पहले मंगलवार की दोपहर खुशबू ने राहुल को फोन कर बताया कि उसे लगता है कि वह प्रेग्नेंट है. उसने राहुल को एक प्रेगनेंसी किट लेकर मिलने के लिए बुलाया. जब राहुल उसके घर पहुंचा तो दोनों के बीच विवाद हो गया. इस दौरान खुशबू ने गुस्से में राहुल को तमाचा जड़ दिया, जिसके बाद राहुल आक्रोश में आया और उसने गला दबाकर उसकी हत्या कर दी.

खुशबू रवी नगर इलाके में अपने महिला सहकर्मी डॉली के साथ रहती थी. दोनों विधवा थीं. पति की मौत के बाद दोनों को रेलवे में अनुकंपा नियुक्ति मिली थी. मंगलवार शाम को करीब छह बजे ड्यूटी समाप्त होने के बाद जब डॉली ने खुशबू को फोन किया तो उसने नहीं उठाया. डाली कमरे पर पहुंची तो बाहर का दरवाजा खुला हुआ था. कमरे के अंदर गई तो देखा कि खुशबू मृत अवस्था में बिस्तर पर पड़ी हुई है. डॉली को पहले लगा कि शायद खुशबू सो रही है इसलिए उसे जगाने का प्रयास करने लगी. काफी प्रयास के बाद जब खुशबू नहीं उठी तो उसने पड़ोसियों को सूचना दी. दोनों ने खुशबू की बहन अलीनगर निवासिनी सुलेखा को फोन कर जानकारी दी. आनन-फानन में सभी लोग वहां पहुंचे और खुशबू को लेकर रेलवे लोको अस्पताल गए. जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया.

राहुल कुमार प्रजापति उर्फ बिट्टू विधुर था. उसकी पत्नी की पहले ही मृत्यु हो चुकी थी. बिट्टू की भी एक बेटी है. वहीं मृतिका खुशबू की भी एक बेटी है. खुशबू के पति की कोरोना काल में मौत हो गई थी. खुशबू का पति रेल कर्मचारी था, लिहाजा उसे आश्रित के तौर पर नौकरी मिली थी. राहुल रेलवे ठेकेदार के अंदर में कार्य करता था. ड्यूटी के दौरान ही राहुल की मुलाकात खुशबू से हुई और दोनों में प्रेम-प्रसंग हो गया. धीरे-धीरे दोनों एक दूसरे के करीब आ गए और संबंध बन गए. इतना ही नहीं जरूरत पड़ने पर राहुल को खुशबू पैसे भी दिया करती थी.

ऐसे हत्यारोपी तक पहुंची पुलिस
पूरी तरह से ब्लाइंड इस केस को सुलझाने के लिए पुलिस ने भी जांच शुरू की. इसी दौरान कमरे की ही एक मेज पर पुलिस को प्रेग्नेंसी किट मिली. चूंकि खुशबू विधवा थी, इसको लेकर पुलिस को शक हुआ. पुलिस ने घर के पास लगे तमाम सीसीटीवी कैमरा को खंगालना शुरू किया. घटना के दिन मंगलवार को दोपहर 1:00 बजे के करीब खुशबू के मकान में एक युवक जाता हुआ दिखा. पुलिस ने जांच की तो वह खुशबू के प्रेमी राहुल तक पहुंची. पुलिस ने जब कड़ाई से पूछताछ की तो राहुल ने पूरा सच उगल दिया. डिप्टी एसपी अनिरुद्ध सिंह ने बताया कि आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया गया है. मौके पर मिले साक्ष्यों के आधार पर पुलिस कार्रवाई कर आरोपी को जेल भेज रही है.

Tags: Chandauli News, Illicit relationship murder, Uttar pradesh news

Share
Facebook Twitter Pinterest Linkedin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *