फरियादियों को नहीं लगाने होंगे कप्तान ऑफिस के चक्कर, थाने से ही करिए SP से बात

किशनगंज: कोरोना काल में फरियादियों की समस्यों के समाधान के लिए एसपी कुमार आशीष ने एक नई व्यवस्था लागू की है. नई व्यवस्था के तहत जिलेवासियों को अपनी समस्याओं के समाधान के लिए एसपी ऑफिस के चक्कर नहीं लगाने होंगे. किशनगंज पुलिस की E-भरोसा योजना के तहत फरियादियों की समस्या का समाधान होगा. एसपी से मिलने के इच्छुक लोग स्थानीय थाना से वर्चुअल संवाद कर सकेंगे.

क्या है नई व्यवस्था

नई व्यवस्था के तहत एसपी हर सप्ताह वर्चुअल माध्यम से अपने सभी थानाध्यक्षों, अंचल निरीक्षकों से संवाद करेंगे. इसपी ने निर्देश दिया है कि साथ थानाध्यक्ष अपने थाना या ऑफिस में 12 बजे से ऑनलाइन रहेंगे. कोई भी व्यक्ति जिन्हें एसपी या डीएसपी से बात करनी है, कोई शिकायत जिसका समाधान स्थानीय थाना स्तर पर नहीं किया जा रहा है, जन-हित से जुड़ा कोई सुझाव देना चाहते हों, वो अपने नजदीकी थाने पर जाकर थानाध्यक्ष के सामने ही एसपी किशनगंज से वर्चुअल तरीके से रूबरू होकर अपनी बात रख सकते हैं. इस व्यवस्था के तहत उन्हें एसपी ऑफिस आने की दरकार नहीं होगी.  

इसकी क्या आवश्यकता है?

एसपी के अनुसार लोग सुदूर क्षेत्र यथा टेढ़ागाछ, दिघलबैंक, ठाकुरगंज, कोचाधामन, गलगलिया आदि अन्य जगहों से विभिन्न मामलों को लेकर एसपी कार्यालय पहुंचते रहते हैं. ऐसे में उनका समय बर्बाद होता है. वर्तमान दौर में कोरोना संक्रमण का भी डर बना रहता है. लोगों को आने जाने में आर्थिक नुकसान भी झेलना पड़ता है. प्राय: ये देखा जाता है कि लोग स्थानीय थाना न जाकर शीघ्र समाधान के लिए सीधे एसपी कार्यालय आ जातें हैं. यहां वे आवदेन देते हैं. वही आवेदन संबंधित थाना जाता है. निर्देश के बाद दो से तीन दिन लग जाते हैं. तब तक त्वरित न्याय का समुचित महत्व नहीं रह जाता है. जिसके कारण दोबारा वे मुख्यालय पहुंच जाते हैं और ये सिलसिला चलता रहता है. इसीलिए ऑन द स्पॉट मामले के निपटारे के लिए अब लोग स्थानीय थाना से एसपी से सीधे संवाद करेंगे.

इस तरह की पहल वाला किशनगंज पहला जिला

कोरोना संक्रमण के मद्देनजर एसपी की पहल पर वर्चुअल मोड से सुनवाई करने वाला बिहार का पहला जिला किशनगंज होगा. जिसकी शुरुआत किशनगंज पुलिस द्वारा की जा रही है. इस मीटिंग के लिए एसपी कुमार आशीष ने सबको तैयारी को लेकर आवश्यक दिशा निर्देश दिए हैं. 

फरियादियों के पास एंड्रॉइड फोन होना आवश्यक होगा?

बिलकुल नहीं, एसपी से वर्चुअल माध्यम से मिलने के लिए यह जरूरी नहीं होगा कि उनके पास एंड्रॉयड मोबाइल या इन्टरनेट की सुविधा है या नहीं. बल्कि उन्हें ऐसे मोबाइल की कोई आवश्यकता नहीं होगी. प्रत्येक मंगलवार को नियत समय पर उन्हें सिर्फ अपने नजदीकी थाने में जाकर SHO/CI से अनुरोध करना होगा कि वो एसपी से ऑनलाइन बात करवा दें, जिसके लिए सम्बंधित थाने में पहले से टैब इन्टरनेट कनेक्शन के साथ उपलब्ध है. 

यह भी पढ़ें: अंडरवर्ल्ड डॉन पर शिकंजा!  दाऊद इब्राहिम का भाई इकबाल कासकर गिरफ्तार

इस समय पर कर सकते हैं बात

मुख्यालय डीएसपी अजय कुमार झा व एसडीपीओ अनवर जावेद अंसारी व्यवस्था की मॉनिटरिंग करेंगे. इसमें लगाए जाने वाले कर्मियों को भी प्रशिक्षित किया जा रहा है. एसपी किशनगंज कुमार आशीष ने कहा कि कोरोना के मद्देनजर लोगों को सुरक्षित व ऑन द स्पॉट मामले के निराकरण के लिए यह कदम उठाया गया है. इससे लोगों को काफी सहूलियत मिलेगी. त्वरित न्याय के साथ समय की बचत होगी और आर्थिक नुकसान से भी छुटकारा मिलेगा. प्रत्येक मंगलवार को समय 01 बजे से 02 बजे के बीच में बेहिचक अपने नजदीकी थाना आकर अपनी समस्या बताएं, किशनगंज पुलिस आपकी सहायता के लिए सदैव तत्पर है.

LIVE TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *