मनोज यादव हत्याकांड: गैंगस्टर प्रिंस खान ने ली थी जिम्मेदारी, 24 घंटे में ही पकड़े गये शूटर्स ने खोले राज

रिपोर्ट- संजय गुप्ता

धनबाद. जिले के कतरास थाना क्षेत्र में 22 जनवरी को अवैध कोयला कारोबारी मनोज यादव की गोली मारकर हुई हत्या का खुलासा धनबाद पुलिस ने कर दिया है. घटना का कारण अवैध कोयला कारोबार में वर्चस्व, क्षेत्र में वर्चस्व और आपसी रंजिश था. हत्याकांड का मास्टरमाइंड विकास बजरंगी और गोली चलाने वाले मोलू उर्फ प्रकाश कुमार, गौतम कुमार यादव को गिरफ्तार किया गया है. इस हत्याकांड में दो महिला सारो जहां आरा सहित 7 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

इन लोगों के पास से दो लाख नगद, हत्या में प्रत्युक्त एक पिस्टल, दो जिंदा कारतूस, 9 मोबाइल सहित अन्य सामान जब्त किया गया है. एसएसपी संजीव कुमार ने बताया कि कुछ दिनों पहले विकास कुमार उर्फ विकास बजरंगी जेल से छूट कर आया था. उसका वर्चस्व इलाके में कम हो गया था, साथ ही विकास कुमार उर्फ विकास बजरंगी की मनोज यादव के साथ पुरानी रंजिश भी थी जिसकी वजह से उसने अनु यादव और सिद्धिक आलम उर्फ सज्जाद उर्फ आजाद से संपर्क कर मनोज यादव की हत्या की साजिश रची.

इस घटना को अंजाम देने के लिए कतरास निवासी मोलू ऊर्फ प्रकाश यादव तथा गौतम कुमार को शूटर के तौर पर एक-एक लाख रुपये दिए गए थे. एसएसपी ने यह भी बताया कि मनोज यादव को घटनास्थल पर बुलाने के लिए उसके जान पहचान की महिला जहां आरा और सारा को इस्तेमाल किया गया. दोनों मां-बेटियों के बुलाने पर मनोज यादव घटनास्थल पर पहुंचा था, जहां शूटर मोलू ऊर्फ प्रकाश यादव और गौतम कुमार ने उसे गोली मार दी. एक सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि गैंगस्टर प्रिंस खान की इस हत्याकांड में संलिप्तता जांच में नहीं मिली है.

प्रेस वार्ता में एसएसपी संजीव कुमार के अलावा ग्रामीण एसपी रेशमा रमेशन, इंस्पेक्टर कतरास समेत कई अन्य पुलिस पदाधिकारी उपस्थित थे. मालूम हो कि 22 जनवरी को कतरास थाना क्षेत्र में मनोज यादव की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी, जिसके बाद गैंगस्टर प्रिंस खान ने पर्चा जारी कर हत्याकांड की जिम्मेवारी ली थी.

Tags: Crime News, Dhanbad news, Jharkhand news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *