ममता बनर्जी का कार्टून शेयर करने वाले प्रोफेसर 11 साल बाद हुए बरी, पूछा- कौन लौटाएगा मेरे बीते साल?

हाइलाइट्स

प्रोफेसर अंबिकेश महापात्रा को पश्चिम बंगाल की एक कोर्ट ने किया बरी
ममता बनर्जी के कार्टून को शेयर करने से भारी मुसीबत में फंसे थे प्रोफेसर
पहले पिटाई फिर गिरफ्तारी और 11 सालों तक चली कानूनी लड़ाई

नई दिल्‍ली. पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्‍यमंत्री और टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी (Chief Minister Mamata Banerjee) के कार्टून शेयर करने वाले प्रोफेसर अंबिकेश महापात्रा (62) को आखिरकार 11 साल बाद कोर्ट ने बरी कर दिया है. उन पर 12 अप्रैल 2012 को ईस्‍ट जाधवपुर पुलिस स्‍टेशन में एफआईआर दर्ज हुई थी और उन्‍हें गिरफ्तार कर लिया गया था. अब अलीपुर जिला कोर्ट ने 18 जनवरी को निचली अदालत को निर्देश दिए हैं कि वह प्रोफेसर पर लगे आपराधिक मामले को रद्द कर दे. राज्‍य सरकार ने महापात्रा पर सूचना प्रौद्योगिकी एक्‍ट की धारा 66 ए के तहत केस दर्ज किया गया था.

प्रोफेसर अंबिकेश महापात्रा ने कहा कि सरकार के खिलाफ किसी तरह की आवाज को दबाने के लिए बंगाल सरकार, सत्‍तारूढ पार्टी के गुंडों और पुलिस प्रशासन ने मिलकर मेरे खिलाफ साजिश रची थी. 11 सालों तक कानूनी लड़ाई लड़ने में मेरा बहुमूल्‍य समय चला गया, अब मेरे इतने साल कौन लौटाएगा?  ‘इंडियन एक्‍सप्रेस’ से महापात्रा ने कहा कि मेरी लड़ाई सभी तरह के अत्‍याचारों के खिलाफ थी. मैं बेशक खुश हूं और मुझे इस केस से छुटकारा पाकर राहत मिली है. लेकिन मुझे ये साल कौन लौटाएगा? इस मामले को बिना किसी योग्यता के जानबूझकर इतने लंबे समय तक खींचा गया.’

दिनेश त्रिवेदी की जगह मुकुल रॉय के रेल मंत्री बनने की घटना पर आधारित था कार्टून
दरअसल 12 अप्रैल 2012 को, प्रोफेसर अंबिकेश महापात्रा ने सत्यजीत रे की फिल्म सोनार केला पर आधारित एक कार्टून सीक्वेंस को शेयर किया था. दरअसल, उस समय दिनेश त्रिवेदी की जगह मुकुल रॉय को केंद्रीय रेल मंत्री बनाया गया था. यह एक अभूतपूर्व घटना थी. रेल बजट एक व्यक्ति द्वारा प्रस्तुत किया जाता था और जब तक यह संसद में पारित होता, तब तक रेल मंत्री बदल दिया गया था. मुकुल राय को नया मंत्री बनाया गया. स्वाभाविक रूप से, यह एक चर्चा का विषय था और कार्टून उसी के बारे में था. इस कार्टून को शेयर करने के आरोप में पूर्वी जादवपुर पुलिस थाने में दर्ज शिकायत हुई थी और उसके आधार पर महापात्रा को उसी दिन गिरफ्तार कर लिया गया था.

Tags: Chief Minister Mamata Banerjee, West bengal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *