मिर्जापुर में अब इमरजेंसी में मिलेगा बेहतर इलाज, मैनेजमेंट की ट्रेनिंग देंगे दिल्ली AIIMS के डॉक्टर

मंगला तिवारी

मिर्जापुर. उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर में इमरजेंसी सेवाओं को बेहतर करने के लिए जिला मंडलीय चिकित्सालय के दो डॉक्टरों व एक नर्स को दिल्ली एम्स में ट्रेनिंग के लिए भेजा जाएगा. हेड इंजरी, बर्न और सर्जरी जैसे मामलों में मरीजों की जान अक्सर जोखिम में रहती है. इन मामलों से निपटने के लिए डॉक्टरों को प्रशिक्षत कराया जाएगा. इससे मंडलीय चिकित्सालय में रोगियों को बेहतर इलाज तो मिल ही सकेगा, साथ ही रेफर किए जाने वाले मरीजों की संख्या में भी कमी आएगी.

बता दें कि, अभी प्रतिदिन 500 से ज्यादा मरीज यहां इमरजेंसी में इलाज के लिए आते हैं जिसमें से लगभग 20 प्रतिशत गंभीर बीमारियों व दुर्घटना में घायल मरीजों को इलाज करवाने के लिए ट्रामा सेंटर अथवा अन्य चिकित्सा केंद्रों के लिए रेफर कर दिया जाता है. इसमें कई बार समय अभाव होने के कारण मरीजों को नुकसान भी उठाना पड़ता है. ऐसे में इमरजेंसी में मरीजों के बेहतर इलाज व मैनेजमेंट के लिए मेडिकल कॉलेज के तरफ से पहल की गई है.

दिल्ली एम्स में जाकर ट्रेनिंग लेंगे

इमरजेंसी में मरीजों को बेहतर चिकित्सकीय इलाज मुहैया कराने के लिए डॉक्टर और एक स्टॉप नर्स को चयनित किया गया है जो दिल्ली एम्स में जाकर ट्रेनिंग लेंगे. जहां इमरजेंसी में मरीजों का उपचार कैसे किया जाए और किस परिस्थिति में हायर सेंटर के लिये रेफर किया जाए, इसका प्रशिक्षण दिया जाएगा. एम्स में चलने वाली ट्रेनिंग चार दिसंबर से नौ दिसंबर तक चलेगी. मिर्जापुर जिले में चिकित्सा अनुभाग से डॉक्टर दिलीप चौरसिया, डॉक्टर सुनील कुमार सिंह व स्टॉप नर्स शशि प्रभा ट्रेनिंग के लिए एम्स जाएंगी.

मरीजों के हैंडलिंग, केयर व इलाज की ट्रेनिंग लेंगे

मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. आर.बी कमल ने बताया कि इमरजेंसी में जो मरीज आते हैं, वो ज्यादातर रेफर कर दिये जाते हैं. जबकि रेफर का एक ग्राउंड होता है. उसके आधार पर हायर सेंटर को मरीज भेजते हैं. इस कंडीशन को सरलता के साथ कैसे मैनेजमेंट किया जाए इसके लिए तीन डॉक्टरों की टीम दिल्ली एम्स जा रही है. प्रशिक्षण लेने के लिए वहां यह मरीजों के हैंडलिंग, केयर व इलाज की ट्रेनिंग लेंगे. यदि रेफर किया जाना है तो किस ग्राउंड पर रेफर किया जाना है इसकी भी जानकारी लेंगे.

Tags: Delhi AIIMS, Emergency, Mirzapur news, Up news in hindi

Share
Facebook Twitter Pinterest Linkedin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *