'मेरी परवरिश से मुझे कोई गिला शिकवा नहीं' ईशान खट्टर ने पैरेंट्स के सेपरेशन पर की बात

मुबंई. बॉलीवुड के चहेते अभिनेता ईशान खट्टर (Ishaan Khatter) ने अपने माता- पिता राजेश खट्टर (Rajesh Khattar) और नीलिमा अज़ीम (Neelima Azeem) के तलाक को लेकर बातें की. बता दें कि जब उनके पैरेंट्स एक दूसरे से अलग हुए थे तब ईशान काफी छोटे थे. ऐसे में उन्होंने अपनी लाइफ में काफी उतार-चढ़ाव देखा हैं, जिसका खुलासा उन्होंने अपने हालिया में दिए इंटरव्यू में किया है. उन्होंने बातचीत में ये भी बताया के उनके पैरेंट्स के सेपरेशन के बाद उनके भाई शाहिद कपूर (Shahid Kapoor) ने उन्हें संभाला है. हालांकि एक्टर के अपने उन दिनों का कोई मलाल नहीं हैं बल्कि उन्हें अपने बचपन पर काफी गर्व है.

बॉलीवुड बबल के साथ बात करते हुए ईशान ने कहा कि फिल्मी बैकग्राउंड से आने के बावजूद, उनकी मां ने कभी भी उन्हें अभिनेता बनने के लिए मना नहीं किया. आगे जब बातचीत में ईशान से जब यह पूछा गया कि माता-पिता के अलगाव से निपटना आपके लिए मुश्किल था?

माता-पिता के अलग होने पर ईशान
ईशान ने कहा, “मेरा एक बड़ा भाई भी था और जब मैं नौ या दस साल का था. तब से वह अपने लिए बहुत अच्छा करने लगा था, इसलिए वह भी कोई था जो देखभाल करता था. मेरी परवरिश के बारे में मेरे पास कोई गिला शिकवा नहीं है. मुझे उस बचपन पर बहुत गर्व है, जो मैंने जिया और मुझे लगता है कि मैं वह व्यक्ति हूं, जो आज मैं हूं. वो कहते हैं न कि कभी-कभी चरित्र विपरीत परिस्थितियों से निर्मित होते हैं और मैंने इसे पहली बार अनुभव किया है. बहुत सारे लोग सोचते हैं कि वे मेरी कहानी जानते हैं, जबकि वास्तव में कोई नहीं जानता.”

मां पर है काफी गर्व
आगे उन्होंने बताया कि उन्हें अपनी मां पर काफी गर्व है क्योंकि उन्होंने उन्हें बहुत कुछ करते हुए देखा है. वह कहते हैं कि मेरी मां काफी मजबूत व्यक्ति हैं. वह व्यक्ति है जिसे मैं सबसे करीब से जानता हूं. ऐसी महिलाओं के लिए मेरे मन में बहुत सम्मान है क्योंकि मैंने उन्हें सबसे करीब से देखा हैं कि कैसे मुश्किल परिस्थियों में जीत हासिल की जाती है.

अभिनेता के रूप में अच्छा करना चाहते हैं
ईशान आगे अपनी मां की तरीफ करते हुए कहा कि मेरी मां एक क्वीन हैं और वह सब इसकी हकदार हैं. मैं आज जो भी हूं वह उन्ही की देन है. उन्होंने ने ही मुझे बनाया है और मुझे इस पर गर्व है. आज मैं चुनौतियों का सामना कर सकता हूं. मैं कभी डरना नहीं हूं, मैं किसी के कुछ कहने की परवाह भी नहीं करता, क्योंकि मैंने जीवन देखा है. मैं इसके बारे में बात करना पसंद नहीं करता . और न ही कभी ये कहता हूं कि ‘मैंने ऐसे दिन देखे हैं, मैं ऐसे महौल में रहा हूं’, क्योंकि हर किसी का अपना हिस्सा होता है.’ ईशान ने ये भी कहा कि उनका लक्ष्य एक अभिनेता के रूप में इतना अच्छा करना है कि वह अपनी मां की देखभाल कर सके.

Tags: Entertainment news., Ishaan Khattar, Shahid kapoor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *