मैंने आलू की जगह डाइट में शामिल किया शकरकंद, टेस्टी खाने के बावजूद नहीं बढ़ा वजन


इस खबर को सुनें

आलू पराठा, आलू की चाट, आलू का रायता, ये मेरे पसंदीदा व्यंजन हैं। पर सीमित मात्रा में आलू का सेवन जहां फायदेमंद है, वहीं इसकी ओवरडोज वेट गेन के साथ भी जुड़ी हुई है। इसलिए इस बार सर्दियों में मैंने अपनी डाइट में आलू की जगह शकरकंदी को इस्तेमाल किया। और यकीन मानिए इतने सारे टेस्टी व्यंजन खाने के बावजूद मेरा वजन नहीं बढ़ा। असल में शकरकंद यानी स्वीट पोटैटो (Sweet potato benefits) जितना टेस्टी है उतना ही हेल्दी भी है।

शकरकंद स्वादिष्ट होने के साथ ही पौष्टिक भी होता है। इसे स्वीट पोटैटो (sweet potato) भी कहा जाता है। सर्दी में शकरकंद खाने से सेहत को कई लाभ मिलते हैं। इसमें विटामिन ए और बीटा-कैरोटीन काफी अच्छी मात्रा में पाया जाता है। शकरकंद को आप उबालकर, भूनकर खा सकते हैं। यह डायबिटीज, हृदय रोग और कैंसर के जोखिम को काफी हद तक कम करता है।

पोषक तत्वों का खजाना है शकरकंद

शकरकंद में विटामिन और मिनरल्स काफी मात्रा में पाया जाता है। शकरकंद में विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन बी और विटामिन डी, वसा, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, कैलोरी, फाइबर से भरपूर मात्रा में होता है। शकरकंद खाने से इम्यूनिटी मजबूत बनती है। यह हृदय और किडनी के लिए काफी फायदेमंद होता है। शकरकंद में मौजूद कैल्शियम, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, पोटैशियम, थायमिन और कैरोटेनॉयड्स हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करता है।

शकरकंदी को उबालकर या भून कर खाना चाहिए ये जानने के लिए हमने बात की न्यूट्रिशनिस्ट और वेलनेस एक्सपर्ट करिश्मा शाह से उन्होने बताया की शकरकंदी को भून कर या उबालकर कैसे भी खाया जा सकता है ये दोनो स्थितियों में आपको फायदा पहुंचाएगा, करिश्मा शाह के अनुसार आप अपने स्वाद के अनुसार इसे खा सकते है। शकरकंद डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर से ग्रसित लोगों के लिए बहुत फायदेमंद है।

ये भी पढ़े- ईजी और टेस्टी रेसिपी है मटर पुलाव, एक मील में मिलते हैं इतने सारे लाभ

आइए जानते हैं शकरकंदी के फायदे

1 विटामिन सी और ए का अच्छा स्रोत

एक कप भूने हुए शकरकंद आपको दैनिक विटामिन सी की जरूरत का लगभग आधा प्रदान करता है। दोनों पोषक तत्व इम्यून फंक्शन के लिए बेहद जरूरी है, जो ठंड और फ्लू के मौसम में विशेष रूप से महत्वपूर्ण है।

स्वस्थ त्वचा, दृष्टि और शरीर के अंगो के सूचारू रूप से काम करने के लिए विटामिन ए भी महत्वपूर्ण है।

sweet potato kaise khayen
शकरकंद में मौजूद फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट गट स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं।

2 कैंसर के खतरे को कम करता है

शकरकंद में कई तरह के एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जो आपको कुछ प्रकार के कैंसर से बचाने में मदद कर सकते हैं।

एंथोसायनिन एंटीऑक्सिडेंट का एक समूह जो बैंगनी शकरकंद में पाए जाते है। कुछ अध्ययनों में पाया गया है कि शकरकंद में कुछ प्रकार के कैंसर कोशिकाओं के विकास को धीमा करता है, जिनमें ब्लैडर, कोलोन, पेट और ब्रैस्ट के कैंसर शामिल हैं।

ये भी पढ़े- स्पॉटलेस ग्लोइंग स्किन के लिए महंगी क्रीम से भी ज्यादा असरदार है आलू, ट्राई करें मम्मी का बताया ये इफेक्टिव नुस्खा

3 आखों की रोशनी बढ़ाती है

शकरकंद बीटा कैरोटीन से भरपूर होता, जिस सब्जी में ये एंटीऑक्सिडेंट पाया जाता है उसका रंग संतरी होता है। बीटा कैरोटीन शरीर में विटामिन ए में बदल जाता है और आँखों में लाइट को पहचानने वाले रिसेप्टर्स बनाने के लिए उपयोग किया जाता है।

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन के अनुसार गंभीर विटामिन ए की कमी विकासशील देशों में एक चिंता का विषय है और इससे एक विशेष प्रकार का अंधापन हो सकता है जिसे ज़ेरोफथाल्मिया कहा जाता है। बीटा कैरोटीन से भरपूर खाद्य पदार्थ, जैसे संतरी छिलके वाले शकरकंद खाने से इस स्थिति को रोकने में मदद मिल सकती है।

4 गट स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद

शकरकंद में मौजूद फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट गट स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं। इसमें दो प्रकार के फाइबर होते हैं: सोल्यूबल और इनसोल्यूबल शरीर किसी भी प्रकार के फाइबर को पचा नहीं सकता है। इसलिए, फाइबर पाचन तंत्र के अंदर रहते है और गट के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करते है।

कई प्रकार के सोल्यूबल फाइबर विस्कोस फाइबर के रूप में जाने जाते हैं, जो पानी को अवशोषित करते हैं और आपके मल को नरम करते हैं।

ये भी पढ़े- Pasta for Weight Loss : मोटापा कम करना है तो पास्ता खाएं, हम बता रहे हैं खाने और पकाने का सही तरीका 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *