म्यांमार में बंधक बनाए गए 300 भारतीयों में से 30 को बचाया गया, बंधक बनाकर करवा रहे सायबर क्राइम

नई दिल्ली. म्यांमार में ‘अवैध रूप से बंधक’ बनाए गए भारतीयों में से अब तक 30 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है. बाकि लोगों को निकालने के प्रयास किए जा रहे हैं. यह जानकारी बुधवार को भारतीय दूतावास ने ट्वीट करके दी है. यह जानकारी ऐसे समय में दी है जबकि 300 भारतीयों को म्यांमार में एक गिरोह द्वारा बंधक बनाए जाने की खबरें आई हैं. बंधक बनाए गए लोगों में तमिलनाडू के सबसे ज्यादा लोग शामिल हैं.

भारतीय दूतावास ने ट्वीट कर दी जानकारी  
विदेश राज्य मंत्री वी. मुरलीधरन ने ट्वीट कर बताया कि उन्होंने राजदूत विनय कुमार से म्यांमार में भारतीयों के बंधक बनाए जाने के बारे में बात की है. उन्होंने बताया कि ‘ राजदूत ने घटना के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि सभी भारतीयों को जल्द से जल्द रिहा कराने के प्रयास किये जा रहे हैं.  भारतीय दूतावास ने ट्वीट कर कहा कि ‘सिक्योरिटी की चुनौतियों और आने-जाने से जुड़ी कानूनी समस्याओं के बावजूद हमने अब तक 30 से अधिक भारतीयों को सुरक्षित बचा लिया है. बाकि भारतीयों को निकालने की कोशिश कर रहे हैं.’

तमिलनाडू के मुख्यमंत्री ने पीएम को लिखी चिट्ठी
इस बीच तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम.के. स्टालिन ने म्यांमार में ‘अवैध रूप से बंधक’ बनाए गए भारतीयों को बचाने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी से हस्तक्षेप करने की मांग की. उन्होंने दावा किया कि इन भारतीयों से जबरन अवैध कार्य कराए जा रहे हैं. स्टालिन ने पीएम को लिखी चिट्ठी में कहा कि राज्य सरकार को करीब 50 तमिलों सहित 300 भारतीयों के म्यांमार में फंसे होने की सूचना मिली है, जो बहुत मुश्किलों का सामना कर रहे हैं. उन्होंने आगे कहा कि ‘जानकारी मिली है कि वे शुरुआत में प्राइवेट रिक्रूटमेंट एजेंसी के जरिए आईटी (Information technology)) में नौकरी के लिए थाईलैंड गए थे. अब उन्हें गैरकानूनी ऑनलाइन जॉब कराने के लिए जबरन थाईलैंड से म्यांमार लाया गया है. काम करने से इनकार करने पर उनके साथ मारपीट की जा रही है.’ स्टालिन ने कहा कि राज्य सरकार ऐसे 17 तमिलों के संपर्क में है, जो ‘जल्द उन्हें बचाने के लिए सरकार की मदद का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं.’

Tags: Indian Embassy, Myanmar, PM Modi, Tamil nadu

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *