ये मानते क्यों नहीं? अलग-अलग राज्यों में अनलॉक की शुरुआत, साथ ही बढ़ने लगी लापरवाही

नई दिल्ली: कोरोना संकट के बीच अलग-अलग राज्यों में जहां अनलॉक की शुरुआत हो चुकी है, वहीं  लापरवाही भी बढ़ने लगी है. इन राज्यों से ऐसी तस्वीरें सामने आई हैं, जिन्हें देखकर आपको लगेगा ये लापरवाही कहीं भारी न पड़ जाए. मुंबई में वेस्टर्न एक्सप्रेस पर जाम लगा और इस ट्रैफिक जाम की तस्वीर ऐसी थी कि इसे देखकर सीएम उद्धव ठाकरे ने खुद कहा कि सख्ती बढ़ानी होगी.

वहीं दिल्ली में भी अनलॉक की शुरुआत हो चुकी है, लेकिन लोगों लापरवाही करने पर अमादा हैं. दिल्ली के आनंद विहार से लापरवाही की ऐसी ही तस्वीरें सामने आई हैं. यही हाल राजस्थान के उदयपुर में भी दिखा, जहां जगह-जगह ट्रैफिक जाम लगा नजर आया. वहीं जयपुर में एक जनाजे में लोगों की भारी भीड़ दिखी.

मुंबई के वेस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे पर भारी जाम

मुंबई के वेस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे की बात करें, तो ये यहां की सबसे अहम सड़कों में गिनी जाती है. सोमवार दोपहर करीब 3 बजे कोरोना संकट के बीच यहां भीषण जाम लग गया. वेस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे पर इस कदर जाम लगना हैरान करने वाला है.

सबसे अहम ये कि अगर दोपहर के वक्त इतना लंबा ट्रैफिक जाम लग गया तो सुबह और शाम को यहां का क्या हाल होगा. ट्रैफिक जाम मुंबई की सड़कों की पहचान है, लेकिन ऐसे वक्त में ट्रैफिक जाम की ये तस्वीरें हैरान करती हैं जब मुंबई ही नहीं, पूरा देश कोरोना संक्रमण से लड़ाई लड़ रहा है.

मुंबई के वेस्टर्न एक्सप्रेस वे पर समता नगर इलाके में इस कदर जाम देखकर खुद सीएम उद्धव ठाकरे भी हैरान हैं. उन्हें एक कार्यक्रम में कहना पड़ा कि अगर ये हाल रहा तो सख्ती बढ़ानी पड़ेगी.

ये भी पढ़ें: भारत में 36 दिन बाद कोरोना से सबसे कम मौतें, नए मामलों में भी आई बड़ी गिरावट

अनलॉक की शुरुआत

ये तस्वीरें इसलिए भी परेशान कर रही हैं क्योंकि, आज से मुंबई समेत महाराष्ट्र में आवश्यक वस्तुओं की दुकानें खुलने का समय तीन घंटे और बढ़ गया है. सरकारी दफ्तरों में भी हाजिरी 15 प्रतिशत से बढ़ाकर 25 प्रतिशत हो गई है. हालांकि ये छूट उन जिलों में ही होगी जहां पॉजिटिविटी रेट 10 प्रतिशत से कम है. यानी महाराष्ट्र धीरे-धीरे ही सही अनलॉक की ओर बढ़ रहा है. महाराष्ट्र में कोरोना के नये मामलों में कमी दिख रही है.

सोमवार को महाराष्ट्र में कोरोना के 15 हज़ार 77 मामले दर्ज किए गए, जबकि रविवार को महाराष्ट्र में कोरोना के 18 हजार 600 मामले मिले थे. वहीं मुंबई में भी कोरोना संक्रमण कम हो रहा है. सोमवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, मुंबई में कोरोना के 666 केस मिले जबकि रविवार को यहां 1 हजार 62 मामले मिले थे.

ये भी पढ़ें: भारत में कोरोना के वैरिएंट को मिला ये ‘नाम’, WHO ने किया नामकरण  

दिल्ली में भी दिखा ऐसा ही हाल

अब बात देश की राजधानी दिल्ली की. सोमवार को दिल्ली के आनंद विहार इलाके में भी ऐसी ही लापरवाही दिखी. किसी ने ठीक से मास्क नहीं पहना था, तो कोई तौलिए को मास्क बनाता दिखा. कुछ लोग तो कैमरा देख मास्क लगाते दिखे. ऐसे में कोरोना संक्रमण कैसे रुकेगा भला? हालांकि घर से निकलना लोगों की मजबूरी भी है. 

दिल्ली में लॉकडाउन को 7 जून तक बढ़ाया गया है. साथ ही अनलॉक की प्रक्रिया की शुरुआत भी कर दी गई है.

अच्छी बात ये है कि दिल्ली में कोरोना संक्रमण की दर 0.99 प्रतिशत हो गई है. दिल्ली में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 648 नए केस मिले हैं. वहीं 24 घंटे में 86 कोरोना संक्रमितों की मौत हो गई.

हालात का काबू में आना अच्छा संदेश है, लेकिन ढील के साथ सड़कों पर भीड़ को कैसे जायज ठहराया जा सकता है? अनलॉक की प्रक्रिया के दौरान लापरवाही भारी पड़ सकती है. इसलिए लापरवाही को लॉक करना ही होगा. 

LIVE TV

जनाजे में शामिल होने के लिए उमड़ी भीड़

दिल्ली और मुंबई के बाद अब जयपुर से आई तस्वीरों की बात करते हैं. इन तस्वीरों से लगता है कि हम कोरोना की शांत हो रही लहर को जाने-अनजाने एक बार फिर न्योता दे रहे हैं.

राजस्थान की राजधानी जयपुर की सड़कों पर उमड़ी भीड़ की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं. कोरोना काल में कानून की धज्जियां उड़ाने पर लोग सवाल पूछ रहे हैं कि क्या कोरोना पर ऐसे काबू पाया जाएगा?

हालात का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि मौके पर मौजूद पुलिस फोर्स भी सवालों के घेरे में आ गई. लोग पूछ रहे हैं कि क्या पुलिस को कोरोना काल में जारी नियम-कायदों का इल्म नहीं है और क्या इतनी बड़ी संख्या में जमा हुए लोगों को रोका नहीं जा सकता?

ये भी पढ़ें: कोरोना से पिता की मौत के बाद शव को जेसीबी से दफनाया, नहीं किया कोई क्रिया-कर्म

दरअसल, जयपुर के सूरजपोल बाजार इलाके में ये लोगों की भीड़ नहीं है, बल्कि यहां पर लोग सोच-समझकर ही इकट्ठा हुए थे. जानकारी के मुताबिक, जयपुर के एक धर्मगुरु हाजी रफत का कल सुबह इंतकाल हो गया. कल शाम सूरजपोल गेट पर नमाज के बाद इनका जनाजा घाटगेट कब्रिस्तान ले जाया गया. इसी दौरान लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा.

इस घटना को लेकर सांगानेर से बीजेपी विधायक अशोक लाहोटी ने राज्य सरकार पर तुष्टीकरण के आरोप लगाए हैं.

वीकेंड कर्फ्यू के दौरान लोगों की भीड़

ऐसी ही तस्वीरें राजस्थान के उदयपुर से भी सामने आई हैं. उदयपुर में वीकेंड कर्फ्यू के दौरान सड़क पर लोगों की भारी लापरवाही नजर आई. सोमवार को यहां की सड़कों पर सैकड़ों गाड़ियां दिखीं और ये हालत तब है, जब शहर के तमाम दफ्तर बंद हैं. हालांकि जगह-जगह पुलिसवाले भी नजर आए और आने जाने वालों को रोक कर पूछताछ भी की गई. लेकिन किसी को भी मास्क न पहनने के लिए कुछ कहते नहीं देखा गया. लोग ऐसे घूमते रहे, जैसे कुछ हुआ ही न हो और कोरोना संक्रमण से किसी को कोई फर्क ही न पड़ता हो.

राजस्थान में कोरोना को लेकर लापरवाही भरी तस्वीरें उस वक्त आ रही हैं जब वैक्सीन को लेकर राजस्थान और केंद्र सरकार के बीच बहस जारी है. केंद्रीय मंत्री गजेंद्र शेखावत ने राजस्थान में कोरोना वैक्सीन की बर्बादी पर सवाल उठाए हैं.

यहां बता दें कि राजस्थान में कोरोना के मामले कम हो रहे हैं. ऐसे में जरूरत सावधानी और धैर्य रखने की है जिससे कोरोना संक्रमण फिर तेजी से न फैले.

अनलॉक शुरू, सावधानी बरतें

उत्तर प्रदेश
आज से अनलॉक की शुरुआत
600 से कम केस वालों जिलों में छूट

महाराष्ट्र 
10% से कम संक्रमण दर वाले जिलों में छूट

दिल्ली 
कंस्ट्रक्शन और उद्योगों में छूट

बिहार 
2 जून से दुकानें एक दिन छोड़कर खुलेंगी 

मध्यप्रदेश 
आज से सशर्त अनलॉक की शुरुआत

छत्तीसगढ़ 
5% से कम संक्रमण दर वाले जिलों में छूट

राजस्थान 
2 जून से आंशिक अनलॉक शुरू 
हफ़्ते में 4 दिन सुबह 6 से 11 बजे बाजार खुलेंगे 
10 जून से सार्वजनिक परिवहन शुरू

हरियाणा 
दुकानें 9 AM-3 PM खुलेंगी 
दुकानें एक दिन छोड़कर खुलेंगी 

जम्मू कश्मीर 
अनलॉक की शुरुआत
नाइट और वीकेंड कर्फ्यू लागू

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *