राजस्थान की राजनीति में भी हुई 'बुलडोजर' की एंट्री, यहां BJP ने नहीं RLP ने थामा है स्टेयरिंग

हाइलाइट्स

सरदारशहर विधानसभा सीट उपचुनाव
आरएलपी बुलडोजर लेकर कूदी चुनाव समर में
नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल बुलडोजर लेकर जनसंपर्क करने पहुंचे

जयपुर. उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार वहां माफियाओं और असामाजिक तत्वों के घर बुलडोजर (Bulldozer) चलाकर कार्रवाई कर रही है. उसके बाद से सीएम आदित्यनाथ योगी (Adityanath Yogi) की पहचान बुलडोजर बाबा की बन गई है. योगी आदित्यनाथ की बुलडोजर कार्रवाई देशभर के सियासी गलियारों में चर्चा का विषय बनी हुई है. अब उसी बुलडोजर की सरदारशहर उपचुनाव में भी एंट्री हो गई है. लेकिन यहां बुलडोजर की एंट्री बीजेपी ने नहीं बल्कि राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी ने करवाई है. चूरू जिले की सरदारशहर विधानसभा सीट के लिए आगामी पांच दिसंबर को उपचुनाव होना है.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं सरदारशहर विधायक पंडित भंवर लाल शर्मा के निधन के बाद यह सीट खाली हुई है. सरदारशहर में आगामी पांच दिसंबर को उपचुनाव के लिए वोट डाले जाने हैं. इस सीट पर बीजेपी ने जहां अशोक पींचा को प्रत्याशी बनाया है तो वहीं कांग्रेस ने दिवंगत विधायक भंवरलाल शर्मा के बेटे अनिल शर्मा पर विश्वास जताया है. इन दोनों के बीच नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल की राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी ने लालचंद मूंड को अपना प्रत्याशी बनाकर मुकाबले को त्रिकोणीय बना दिया है. बेनीवाल मंगलवार रात को वहां बुलडोजर लेकर पहुंचे.

चुनाव प्रचार के लिए बेनीवाल आजमा रहे हैं नए-नए तरीके

आपके शहर से (जयपुर)

राजस्थान
जयपुर

राजस्थान
जयपुर

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के उम्मीदवार लालचंद मूंड को जीताने के लिए खुद पार्टी सुप्रीमो हनुमान बेनीवाल धुआंधार चुनाव प्रचार में डटे हुए हैं. वे देर रात तक भी जनसंपर्क और चुनावी सभाएं कर रहे हैं. किसान मतदाताओं का समर्थन हासिल करने के लिए हनुमान बेनीवाल चुनाव प्रचार के मद्देनजर कई अनूठे प्रयोग कर रहे हैं. वे कभी ट्रैक्टर चलाकर किसानों के हितों की लड़ाई लड़ने का मैसेज दे रहे हैं. वहीं कई जगह जनसंपर्क के कार्यक्रमों में उनके समर्थक उन्हें ऊंट और घोड़े पर बिठाकर उनका स्वागत कर रहे हैं. ताकि देसी अंदाज की बदौलत ग्रामीण जनता के बीच जगह बनाई जा सके.

बेनीवाल बोले पहली बार बुलडोजर पर बैठा हूं

इसी कड़ी में आरएलपी प्रमुख हनुमान बेनीवाल गाजूसर गांव में चुनावी सभा को संबोधित करने गए थे. इसके लिए बेनीवाल बुलडोजर चलाकर जनता के बीच पहुंचे. बुलडोजर से उतरने के बाद चुनावी सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि वे जीवन में पहली बार बुलडोजर में बैठे हैं. पहली बार में ही उन्होंने बुलडोजर के स्टेरिंग पर भी हाथ आजमाया है. उन्होंने कहा कि मैं किसान का बेटा हूं. बुलडोजर की सवारी भी कर सकता हूं. ऊंट की सवारी भी कर सकता हूं और खेत में हल भी चला सकता हूं. राजस्थान में 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले हो रहे उपचुनाव के सियासी समर में बुलडोजर चलाकर राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के सुप्रीमो हनुमान बेनीवाल ने संदेश दिया की बीजेपी और कांग्रेस की विचारधारा पर आरएलपी अब अपना बुलडोजर चलाने को तैयार है.

Tags: Bulldozer Baba, Hanuman Beniwal, Jaipur news, Rajasthan news

Share
Facebook Twitter Pinterest Linkedin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *