राजस्थान: प्रिंसीपल ने की महिला टीचर्स से अभद्रता, सरकार ने APO किया तो कुर्सी से चिपका, हंगामा

हाइलाइट्स

समदड़ी राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय का है मामला
प्रिंसीपल ने सरकार के एपीओ आदेश मानने से किया साफ इनकार
पुलिस और एसडीएम ने मौके पर पहुंचकर प्रिंसीपल को जबरन किया रिलीव

बाड़मेर. राजस्थान के बाड़मेर जिले के समदड़ी में लेडी टीचर्स () से अभद्रता करने वाले प्रिंसीपल श्रवण कुमार जांगिड़ (Shravan Kumar Jangid) को पद से हटाकर एपीओ (APO) कर दिया गया है. लेकिन प्रिंसीपल ने एपीओ के सरकारी आदेश से मानने से साफ इनकार कर दिया. यही नहीं वह अपने चैम्बर में कुर्सी से चिपक गया और वहां से नहीं उठने पर अड़ गया. इससे वहां अच्छा खासा बवाल खड़ा हो गया. प्रिंसीपल ने धौंस देते हुए कहा कि उसके ऑफिस में उसकी अनुमति के बिना कोई नहीं आएगा. बाद में मौके पर पहुंचे एसडीएम ने पुलिस के सहयोग से प्रिंसीपल से जबरन चार्ज एक अन्य वरिष्ठ टीचर को दिलवाकर उसे रिलीव किया.

यह केस बाड़मेर जिले के समदड़ी राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय से जुड़ा है. इस स्कूल के प्रिंसीपल श्रवण कुमार जांगिड़ के कारण यह स्कूल कई दिनों से चर्चा में है. हाल ही में स्कूल की कई लेडी टीचर्स ने बाड़मेर में हुई जिला स्तरीय जनसुनवाई में वन मंत्री सुखराम विश्नोई के सामने अपनी पीड़ा रखी थी. इन टीचर्स उनका आरोप था प्रिंसीपल श्रवण कुमार उनके लिए गलत भाषा का प्रयोग करते हैं. अश्लील शब्दों का इस्तेमाल करते हुए उन्हें जलील करते हैं. देर रात स्कूल में आने के लिए मजबूर करते हैं.

लेडी टीचर्स बोली मंत्री जी बचाओ: प्रिंसिपल रात को स्कूल बुलाता है, अश्लील शब्द बोलता है, फिर…

आपके शहर से (बाड़मेर)

राजस्थान
बाड़मेर

राजस्थान
बाड़मेर

प्रिंसीपल बोला मेरे को कोई आदेश नहीं दे सकता
संभागीय आयुक्त ने इस मामले की जांच के आदेश दिए थे. उसके बाद प्रिंसीपल को पद से हटाकर एपीओ कर दिया गया. सोमवार को जिला मुख्यालय से समदड़ी स्कूल पहुंचे मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी और अन्य शिक्षा अधिकारियों की बातों को प्रिंसीपल ने नजरअंदाज करते हुए पहले उनसे बात नहीं की. उन्होंने अपनी सीट पर बैठते हुए कहा कि मैं किसी अधिकारी की बात को नहीं मानूंगा. मेरे को कोई आदेश नहीं दे सकता. उन्होंने शिक्षा निदेशक गौरव अग्रवाल के एपीओ आदेश को भी मानने से इनकार कर दिया. जांगिड़ ने कहा कि उन्होंने बिना जांच किए मुझे एपीओ कैसे कर दिया.

प्रिंसीपल को कानूनी कार्रवाई करने की धमकी दी गई
मामला बिगड़ते देखकर बाद में पुलिस बुलाई गई और आलाधिकारियों को सूचना दी गई. इस पर सिवाना एसडीएम दिनेश विश्नोई वहां पहुंचे तो प्रिंसीपल ने उनसे भी बात नहीं की. इस पर प्रिंसीपल के खिलाफ राजकार्य में बाधा डालने पर कानूनी कार्रवाई करने की धमकी दी गई. तब जाकर प्रिंसीपल के तेवर ढीले पड़े. काफी हंगामे के बाद एसडीएम ने प्रिंसीपल से चार्ज स्कूल एक वरिष्ठ टीचर को दिलवाया. इस दौरान वहां अच्छी खासी भीड़ जमा हो गई.

Tags: Barmer news, Rajasthan Education Department, Rajasthan news, Teachers

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *