रात होते ही आप भी करने लगते हैं ये काम? अभी सुधार लें आदत, वरना जिंदगीभर पछताएंगे

हाइलाइट्स

जल्दी सोने वाले लोग दिनभर एक्टिव और एनर्जी से भरपूर रहते हैं.
देर रात तक जागने वाले लोगों को डायबिटीज का खतरा बढ़ जाता है.

Staying Up Late Cause Diabetes: स्मार्टफोन, लैपटॉप और अन्य इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स ने हमारी जिंदगी को काफी आसान बना दिया है. इसकी वजह से कई बार हम ऐसी आदतें पाल लेते हैं जो हमारे लिए जी का जंजाल बन जाती हैं. बच्चों से लेकर बुजुर्ग भी देर रात तक फोन या लैपटॉप चलाते हुए दिख जाते हैं. इस आदत को ‘बिंज वॉचिंग’ कहा जाने लगा है. एक हालिया स्टडी में देर रात तक जागने से होने वाली बीमारियों के बारे में बड़ा खुलासा हुआ है. यदि आप भी रात में लाइफस्टाइल से जुड़ी गलत आदतों के शिकार हैं तो जान लें ये कैसे आपके लिए घातक साबित हो सकती हैं.

यह भी पढ़ेंः ज्यादा बीयर पीने से हो सकता है कैंसर ! लिमिट में पीएंगे तो होगा फायदा

हार्ट डिजीज डायबिटीज का बढ़ता है खतरा
अमेरिका में की गई एक स्टडी में पता चला है कि देर रात तक जागने वाले लोगों में हार्ट डिजीज और टाइप 2 डायबिटीज का खतरा ज्यादा होता है. द गार्जियन की रिपोर्ट के मुताबिक जो लोग रात में देर से सोते हैं, उनका शरीर फैट को बर्न करके एनर्जी में सही तरीके से तब्दील नहीं कर पाता. वहीं जो लोग जल्दी सो जाते हैं, उनका शरीर फैट को अच्छी तरह बर्न करके ज्यादा एनर्जी बनाने में सक्षम हो जाता है. इसकी वजह से जल्दी सोने वाले लोग दिनभर एक्टिव और एनर्जी से भरपूर भी रहते हैं. ‘बिंज वॉचिंग’ कई बीमारियों की वजह बन सकती है.

यह भी पढ़ेंः मेंटल हेल्थ इंप्रूव करने के लिए जरूर करें ये आसन, मेमोरी हो जाएगी सुपरफास्ट

मोटापे का भी बढ़ता है खतरा
शोधकर्ताओं का कहना है कि रात में देर से सोने वाले लोगों के शरीर में फैट सही तरीके से बर्न नहीं हो पाता है. इसकी वजह से इंसुलिन की फंक्शनिंग प्रभावित होती है और ब्लड शुगर लेवल बढ़ने का जोखिम पैदा हो जाता है. ऐसे लोगों में मोटापा बढ़ने का भी खतरा रहता है. हैरानी वाली बात है कि यह लोग जब एक्सरसाइज करते हैं तब भी सही मात्रा में फैट बर्न नहीं हो पाता. ऐसी कंडीशन में लगातार यह शरीर में जमा हो जाता है और मोटापे का रूप ले लेता है. ऐसे लोगों में इंसुलिन के प्रति सेंसटिविटी कम हो जाती है और इनका शरीर एनर्जी के लिए कार्बोहाइड्रेट्स को इस्तेमाल करता है.

नींद पूरी न होने से भी कई बीमारियों का खतरा
कुछ लोग ऐसे होते हैं जो देर रात तक जागते हैं और सुबह काम की वजह से उन्हें जल्दी उठना पड़ता है. ऐसे लोगों की नींद पूरी नहीं हो पाती और सरकेडियन रिदम प्रभावित हो जाती है. यह भी फिजिकल हेल्थ के साथ मेंटल हेल्थ के लिए खतरनाक होता है. खासतौर से यह आदत बच्चों को सबसे ज्यादा प्रभावित करती है, क्योंकि उनके लिए दिन में करीब 10 से 12 घंटे की नींद लेना जरूरी होता है. इसके अलावा नाइट शिफ्ट करने वाले लोगों की हेल्थ भी बुरी तरह प्रभावित होती है.

Tags: Diabetes, Health, Heart Disease, Lifestyle, Trending news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *