लोकप्रियता को लेकर Sudhir Chaudhary के नाम एक और उपलब्धि, Koo पर जुड़े लाखों फॉलोअर्स

नई दिल्ली: ज़ी न्यूज़ के एडिटर-इन-चीफ और सीईओ सुधीर चौधरी (Sudhir Chaudhary, Editor-in-Chief and CEO Zee News) सोशल मीडिया के जरिए अपने करोड़ों फॉलोअर्स से सीधा संवाद करते हैं. दुनिया के हर प्रमुख सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर उन्हें मिलने वाला समर्थन उनकी लोकप्रियता को दिखाता है. इसी पॉपुलैरिटी की बात करें तो अब वो स्वदेशी सोशल मीडिया साइट कू (Koo) पर भी अपनी दमदार उपस्थिति दर्ज करा चुके हैं. 

5 लाख से ज्यादा फॉलोअर्स

Koo की बात करें तो 100 दिन में इस मंच पर पांच लाख से ज्यादा फॉलोअर्स उनसे जुड़ चुके हैं. सुधीर चौधरी इसी साल फरवरी में इस साइट से जुड़े थे. यहां वो हिन्दी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में संवाद करते हैं. गौरतलब है कि इन दोनों भाषाओं में उनकी जबर्दस्त फैन फॉलोइंग है. Koo पर उनकी पोस्ट में देश-दुनिया की खबरों का जिक्र होता है.

यहां वो अपने बारे में भी जानकारी देते रहते हैं. कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित होने के बाद वो अस्पताल से भी अपनी सेहत का अपडेट दे रहे थे. वहीं खुद के कोरोना संक्रमण से ठीक होने की जानकारी भी उन्होंने अपने फॉलोअर्स के साथ साझा की.

दिग्गजों का आंकलन

Koo के को-फाउंडर अप्रमेय राधाकृष्ण (Aprameya Radhakrishna) का कहना है कि सुधीर चौधरी को इस मंच पर इतना प्यार मिलते हुए देखना बहुत अच्छा लगता है. उन्होंने कहा, ‘वो भारतीय टीवी न्यूज़ इंडस्ट्री का एक प्रमुख चेहरा हैं. मुझे यकीन है कि अभी उनके कई फॉलोअर्स यहां उनसे जुड़ना चाहेंगे. सिर्फ 100 दिन में उन्होंने 5 लाख फॉलोअर्स का आंकड़ा पार किया है. जिस तेजी से फॉलोअर्स उनसे जुड़ रहे हैं ऐसे में वो जल्द ही पुराने रिकार्ड तोड़ देंगे.’

‘प्रभावशाली संवाद क्षमता’

वहीं Koo के एक और को-फाउंडर मयंक बिदावतका (Mayank Bidawatka) ने कहा, ‘उन्हें लोगों से जुड़ने की कला आती है. उनके कोरोना वायरस संक्रमण से ठीक होकर डिस्चार्ज होने की खबर को भी लोगों ने बहुत पसंद किया. उनके फॉलोअर्स ने उनके जल्द से जल्द ठीक होने की प्रार्थना की थी. हमें खुशी है कि हम उन्हे Koo पर उनके समर्थकों के साथ जोड़ने में सक्षम हैं.’

क्या और कैसा है कू प्लेटफॉर्म?

ट्विटर की तरह यह भी एक माइक्रो ब्लॉगिंग साइट है, जो गूगल प्ले स्टोर सहित आईओएस पर भी है. यहां आप अपने ओपिनियन पोस्ट करने के साथ ही दूसरे यूज़रों को फॉलो कर सकते हैं. इस मंच पर पोस्ट की कैरेक्टर लिमिट 400 है. 

एक ऐसे देश में जहां सिर्फ 10% लोग ही अंग्रेजी बोलते हों, वहां एक उस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की जरूरत थी जो भारतीयों को उनकी भाषा में संवाद का मौका देकर अपने लोगों से जुड़ने का मौका दे. स्वदेशी Koo उन सभी भारतीयों की आवाज़ को एक मंच प्रदान करता है जो अपनी भाषा में संवाद करना पसंद करते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *