वजन कम करना है तो अपने नाश्ते की आदत में करना होगा बदलाव, जानिए नाश्ते के बारे में क्या कहते हैं विशेषज्ञ

इस खबर को सुनें

शरीर को फिट रखने के लिए हर किसी को चिंता रहती है। यह समस्या का समाधान स्वयं आपके पास ही है। संतुलित और पौष्टिक नाश्त के साथ इसका समय भी तय हो तो वजन भी आसानी से कम होगा और सेहत भी अच्छी रहेगी। इसके लिए आपको टाइम सेट करना सही रहेगा। व्यायाम, जिम, योग, एक्सरसाइज, डाइटिंग के साथ-साथ नाश्ता भी आपकी फिटनेस में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। तो आइए जानते हैं फिटनेस और नाश्ते (breakfast to lose weight) के बारे में कुछ जरूरी बातें।
पेट की चर्बी कम न होने के कारण शर्मिंदगी भी महसूस होती है। इस कारण अक्सर देखा गया है मोटापे के कारण अत्मविश्वास भी कम हो जता है। क्योंकि हर किसी को पतला और सुंदर दिखना है। समय को ध्यान में रख कर नाश्ता करने से वजन को कम किया जा सकता है। नहीं समय का ध्यान न देने से बैली फैट शरीर मे लगतार बढ़ता है। विशेषज्ञों के अनुसार आज नाश्ते का समय तय करने से वजन को करीब पांच किलो तक कम किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें Grapes benefits : अपने मिड मील स्नैक्स में शामिल करें अंगूर, न होगा तनाव, न पड़ेंगी बीमार

क्या कहते हैं डाइटीशियन

डाइटीशियन अनुभव सक्सेना कहते हैं आज के दौर में लोग जब मन आता है नाश्ता या खाना शुरू कर देते हैं। जो कि गलत है, आप जो भी सेवन करते है उसका एक समय होना चाहिए। जिससे शरीर के डाइजेस्टिव सिस्टम पर किसी प्रकार का ज़ोर न पड़े। कम समय में ज्यादा खाना पेट में जाने से पाचन तंत्र में अधिक ज़ोर पड़ता है।

वेट लॉस और नाश्ते के बीच है गहरा संबंध

weight-loss-
डाइटीशियन द्वारा दिए टिप्स को फॉलो कर शरीर को रखें फिट। चित्र- शटर स्टॉक

अधुनिक दौर में लोगों के सोने का, जगने का समय बदल गया है। जिस कारण खाने पीने का भी समय बदला है। पहले के समय में लोग सूरज के ढलते ही खाना खाते थे और सुबह का नाश्ता भी समय से कर लेते थे।
मतलब नाश्ता और रात के खाने के बीच में कम से कम 14 से 16 घंटे का अंतर होता था, जो कि सही था। तब लोगों को शरीर को फिट रखने के लिए आज के इतनी मेहनत नहीं करनी पड़ती थी। आज के दौर में भी लोगों को रात के खाने और नाश्ते के बीच का अंतर 14 से 16 घंटे के बीच का होना चाहिए।

इसलिए बढ़ता है बैली फैट

बदलती लाइस्टाल में लोगों ने अपना खाने का समय भी बिगाड़ लिया है। देर रात तक जगना, नाईट आउट करना इस दौरान खाते पीते रहना। मॉर्निंग में जगने के बाद ब्रेकफास्ट करना। पाचन तंत्र को अपना काम करने के लिए समय न देना। रात के खाने और ब्रेकफास्ट के बीच 14 से 16 घंटे का गैप न होने से बैली फैट बढ़ने लगता है। इसे कंट्रोल में रखने के लिए समय का ध्यान रखना जरूरी है।

9-10 बजे करें नाश्ता

विशेषज्ञ कहते हैं रात और सुबह के बीच आप जो भी खाते हैं, उसके बीच समय का गैप होना चाहिए। आज के दौर में शरीर को फिट रखने के लिए सुबह 9 से 10 के बीच नाश्ता करना सही रहेगा।
किंग्स कॉलेज लंदन के जेनेटिक एपिडेमियोलॉजी के प्रोफेसर का कहना है आधुनिक जमाने में वजन कम करने के लिए सुबह 11 बजे तक नाश्ता का सेवन नहीं करना चाहिए। इसे पहले करने से मोटापा को बढ़ावा मिलता है।

wazan ghtane ke liye night time routine
वेट लास में आपकी मदद कर सकता है। चित्र: शटरस्टॉक

14 घंटे का उपवास जरूरी

रिसर्च रिपोर्ट में बताया गया रात के खाने और नाश्ते के बीचइ 14 घंटे का गैप जरूरी है। रात में 8 से 9 बजे तक डिनर करते हैं तो सुबह 11 बजे नाश्ता करें। ब्रेकफास्ट आपको जल्दी करना है तो रात का खाना आपको जल्दी करना होगा। इससे बॉडी को डिटॉक्स करने के साथ वजन कंट्रोल रखने में मदद मिलेगी।

यह भी पढ़ें हार्ट हेल्थ को दुरूस्त रख सकता है नियमित योगाभ्यास, यहां हैं 3 हार्ट हेल्दी योगासन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *