शर्मनाक : जब देश पुरखों को पूज रहा था, 95 साल की मां को फुटपाथ पर छोड़ गए बेटा बहू

इंदौर. इंदौर ने तमाम मोर्चों पर कई उपलब्धियां हासिल कीं लेकिन बुजुर्गों के मामले में ये शहर लगातार अमानवीय बना हुआ है. अमानवीयता के किस्से बार बार सामने आ रहे हैं. पहले नगर निगम के अमले ने बुजुर्ग भिखारियों को ट्रक में भरकर शहर के बाहर छोड़ा था और अब एक दंपति बेहद 95 साल की उम्र की मां को फुटपाथ पर छोड़कर चले गए. ये असंवेदनशीलता उस वक्त की गयी जब श्राद्ध चल रहे थे और पूरा देश अपने पुरखों को तर्पण कर रहा था. सीसीटीवी फुटेज देखकर हर कोई दहल रहा है.

इंदौर के दामन पर फिर एक बुजुर्ग महिला के साथ अमानवीयता का दाग लग गया है. घटना का वीडियो सामने आया है जो रोंगटे खड़े कर रहा है. श्राद्ध पक्ष के दिन एक बेटे ने अपनी जीवित मां का त्याग कर दिया. बेटा रात में मां को फुटपाथ पर लावारिस छोड़कर चला गया.

शहर पर दाग
वैसे तो देश के सबसे स्वच्छ शहर इंदौर को रहने लायक शहरों की सूची में टॉप टेन में जगह दी गई है. लेकिन यहां हुई एक घटना ने शहर की सफाई और संजीदगी पर दाग लगा दिया. 90 साल की एक बुजुर्ग महिला को उसके परिवार के लोग ही रात में फुटपाथ पर लावारिस हालत में छोड़कर चले गए. ये घटना पंचकुइया भूतेश्वर महादेव मंदिर में लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद हो गई. मंदिर के सीसीटीवी कैमरे में दिखा कि 24 सितंबर की रात 90 से 95 साल की बुजुर्ग महिला को एक पुरुष और युवती मंदिर के बाहर बने फुटपाथ  पर बैठाकर जा रहे हैं. युवती बुजुर्ग के पास उनके सामान की पोटली रखती नजर आ रही है.

ये भी पढ़ें- शक्तिपीठ मैहर : आल्हा ऊदल ने खोजा था मां का मंदिर, आदि शंकराचार्य ने शुरू की थी पूजा

मां को फुटपाथ पर छोड़ गया परिवार
वहां से गुजर रहे लोगों ने जब मंदिर के बाहर बुजुर्ग महिला को लावारिस हालात में देखा तो पुलिस को सूचना दी. मल्हारगंज पुलिस और निराश्रित सेवा आश्रम के युवा फौरन वहां पहुंचे. उन्होंने देखा कि बुजुर्ग महिला चलने-फिरने के साथ ही बोलने में भी असमर्थ है, निराश्रित सेवा आश्रम के यश पाराशर उस महिला को गोद में उठाकर आश्रम ले गए. ऐसा समझा जा रहा है कि बुजुर्ग के बेटे और बहू यहां छोड़कर गए हैं. सीसीसीटी फुटेज के आधार पर बुजुर्ग को छोडक़र जाने वालों की पहचान की जा रही है.

बुजुर्ग मां के पैर में घाव, बोलने में असमर्थ
निराश्रित आश्रम के यश पाराशर का कहना है बुजुर्ग महिला की उम्र 90 से 95 साल के बीच है. ना वो चल पा रही हैं ना बोल पा रही हैं. वो घबराहट के कारण कुछ भी बता पाने में असमर्थ हैं. उनके हाथों पर घाव भी हैं. सर्व पितृ अमावस्या के दिन अपने ही परिवार के वृ्द्ध जन को त्याग देना बहुत शर्मनाक है. हम ईश्वर से प्रार्थना करते हैं कि उनके बच्चों को सद्बुद्धि दे.

[embedded content]

निराश्रित आश्रम में आसरा
मल्हारगंज थाने की एसआई कल्पना चौहान ने बताया कि बुजुर्ग महिला को फुटपाथ पर छोड़कर जाने वालों की पहचानन करने की कोशिश की जा रही है. सोशल मीडिया पर वीडियो जारी कर लोगों से भी पहचान कराने की अपील की जा रही है. माता जी चलने फिरने ओर बोलने में असमर्थ हैं. वो कुछ बता भी नहीं पा रही हैं. ऐसे में उनके परिवार को ढूंढ़ने में तकलीफ हो रही है. हालांकि जल्द ही उन्हें ढूंढ निकाला जाएगा. पुलिस की मदद से बुजुर्ग माता जी को निराश्रित सेवा आश्रम पहुंचाया दिया गया है. वहां उनकी उचित देखभाल की जा रही है.

Tags: Indore news, Madhya pradesh latest news, OMG News, OMG Video

Share
Facebook Twitter Pinterest Linkedin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *