शिवाजी पार्क में किसे मिलेगी दशहरा रैली करने की इजाजत? अब हाई कोर्ट करेगा फैसला

हाइलाइट्स

दशहरा रैली पर शिंदे और ठाकरे गुट आमने-सामने
BMC ने दोनों में से किसी को नहीं दी रैली की इजाजत
शिवाजी पार्क में दशहरा रैली करने की मांगी थी अनुमति

मुंबई. देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में स्थित शिवाजी पार्क में इस बार दशहरा रैली करने की इजाजत किसको मिलेगी, इसका फैसला अब बांबे हाई कोर्ट करेगा. मुख्‍यमंत्री एकनाथ शिंदे और पूर्व सीएम उद्धव ठाकरे का गुट इसको लेकर बांबे हाइ कोर्ट पहुंच गया है. शिवसेना के ठाकरे गुट ने हाई कोर्ट में याचिका दायर कर शिवाजी पार्क में दशहरा रैली करने की इजाजत मांगी है. इस बीच, शिंदे गुट भी हाई कोर्ट पहुंच गया है. शिंदे गुट ने हाई कोर्ट में याचिका दायर करते हुए मांग की है कि ठाकरे गुट को शिवाजी पार्क में दशहरा रैली करने की इजाजत न दी जाए. शिंदे गुट ने दलील दी है कि इससे मूल शिवसेना कौन है, इस पर असर पड़ सकता है. शिंदे गुट के विधायक सदा सर्वनकर का कहना है कि यदि इस मसले पर हाई कोर्ट कोई आदेश देता है तो शिवसेना पर हकदारी को लेकर चल रहे विवाद में बाधाएं उत्‍पन्‍न हो सकती है. हाई कोर्ट ने शिंदे गुट की याचिका को स्‍वीकार करते हुए मामले की सुनवाई शुक्रवार दोपहर 12 बजे तक के लिए टाल दी है.

बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) ने शिवसेना के ठाकरे गुट और शिंदे गुट को शिवाजी पार्क में दशहरा रैली के आयोजन की अनुमति नहीं दी है. ठाकरे गुट इसके खिलाफ हाई कोर्ट पहुंच गया. इसके बाद शिंदे गुट ने भी उच्‍च न्‍यायालय में याचिका दायर कर दी. बीएमसी के अधिकारियों के अनुसार, मुंबई पुलिस द्वारा उठाए गए कानून-व्यवस्था से संबंधित मुद्दों के आधार पर शिवाजी पार्क में रैली आयोजन की अनुमति देने से इनकार किया गया है. बीएमसी आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने पीटीआई-भाषा को बताया कि बीएमसी प्रशासन ने शिवसेना के दोनों गुटों को 5 अक्टूबर को दशहरा के अवसर पर शिवाजी पार्क में रैली के आयोजन की अनुमति देने से इनकार कर दिया है. अधिकारियों ने बताया कि बीएमसी ने पत्र भेजकर दोनों गुटों को अनुमति न देने की जानकारी दे दी है.

दशहरा रैली: शिवाजी पार्क में रैली को लेकर शिवसेना के दोनों गुट आमने-सामने, बनी प्रतिष्ठा का सवाल 

अब शुक्रवार को होगी मामले की सुनवाई
शिंदे और ठाकरे गुट के हाई कोर्ट पहुंचने के बाद शिवाजी पार्क में दशहरा रैली के आयोजन का मुद्दा काफी पेचीदा हो गया है. हाई कोर्ट ने शिंदे गुट की याचिका भी स्‍वीकार कर ली है. दूसरी तरफ, बीएमसी ने कोर्ट से आग्रह किया कि उसे इस मामले पर दिशा-निर्देश लेना होगा. कोर्ट ने आग्रह को स्‍वीकार करते हुए मामले की सुनवाई गुरुवार को टाल दी. अब इस मामले पर शुक्रवार दोपहर 12 बजे सुनवाई होगी.

[embedded content]

BMC में आवेदन
ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना के नेता अनिल देसाई ने 22 अगस्त को बीएमसी को मध्य मुंबई के प्रतिष्ठित शिवाजी पार्क में दशहरा रैली आयोजित करने की अनुमति के लिए आवेदन किया था. बाद में 30 अगस्त को शिंदे गुट के विधायक सदा सर्वनकर ने भी दशहरा रैली आयोजित करने के लिए बीएमसी के जी-नॉर्थ वार्ड से अनुमति को लेकर आवेदन किया था. पिछले हफ्ते शिंदे गुट को मुंबई के बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स के एमएमआरडीए मैदान में रैली करने की अनुमति दी गई थी.

Tags: Bombay high court, Maharashtra News, National News, Uddhav thackeray

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *