सहेलियों से छेड़छाड़ का विरोध करने पर बदमाशों ने की युवा व्यवसायी की हत्या, 6 आरोपी गिरफ्तार

इंदौर. इंदौर में नये साल के जश्न के दौरान भीड़ भरी सड़क पर एक युवा व्यवसायी की हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है. युवतियों से छेड़छाड़ का विरोध करने पर आरोपियों ने व्यवसायी की हत्या की थी. पुलिस ने सभी 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. इसमें तीन नाबालिग भी शामिल हैं.

इंदौर में नए साल का आगाज खूनी सुबह से हुआ. यहां देर रात मामूली विवाद में एक युवक की चाकू मारकर हत्या कर दी गई थी, हत्या के बाद से हत्यारे फरार थे. पूछताछ में पता चला कि ह्त्या के पीछे बेहद मामूली बात थी. बदमाशों ने युवक पर चाकू से हमला बोल दिया  और उसकी मौत हो गई. मृतक का नाम आयुष गुप्ता था, जो मूलतः शिवपुरी का रहने वाला था, उसके पिता शिवपुरी में हार्डवेयर का व्यवसाय करते हैं. आयुष इंदौर में रहकर व्यवसाय कर रहा था.

नये साल के जश्न में हत्या
दर्दनाक हादसा 31 दिसंबर और 01 जनवरी की दरम्यानी रात का था. जब पूरा शहर नए साल के जश्न में डूबा था. पुलिस भी सड़क पर तैनात थी. दावा था कि सड़कों पर लगभग एक हजार की संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया था. ताकि हुड़दंगी अशांति  न फैला सकें. कोई नशे की हालत में जश्न की आड़ में खलल उत्पन्न न कर सके. पुलिस ने मुस्तैदी का भरपूर दावा किया था, लेकिन बदमाशों ने चाकूबाजी कर एक युवक की ह्त्या कर पुलिस को चुनौती दे दी.

आपके शहर से (इंदौर)

मध्य प्रदेश
इंदौर

मध्य प्रदेश
इंदौर

ये भी पढ़ें- खबर जरा हटकर : इंजीनियर गौ पालक का हाईटेक डेयरी फार्म, सालाना करोड़ों रुपये का टर्न ओवर

छेड़छाड़ का विरोध
शिवपुरी के व्यवसायी का बेटा आयुष पिछले कुछ समय से इंदौर में रहकर अपना व्यवसाय कर रहा था. आम लोगों की तरह वह 31 दिसंबर की रात अपने कुछ दोस्तों के साथ नये साल का जश्न मनाने निकला था. उनके साथ कुछ युवतियां भी थीं जो दूसरे वाहन पर थीं. युवतियां जब जब बीआरटीएस के करीब पहुंची तो सड़क पर कुछ लड़के खड़े थे. इन युवतियों को देख वो तेज हॉर्न बजाने लगे, और फब्तियां कसने लगे. लड़कियों के साथ हुए इस व्यवहार का आयुष और उसके दोस्तों ने विरोध किया और सड़क पर खड़े बदमाश चिराग, नीलेश, और विवेक और उनके कुछ साथियों को डांट दिया, और आगे बढ़ने लगे. लेकिन इन बदमाशों ने भी आयुष को धमकाना शुरू कर दिया.

बदमाशों ने पीछा कर हत्या की
बदमाशों के हाव भाव भांप कर आयुष ने मौके से बिना विवाद किये ही आगे बढ़ जाना उचित समझा. वो अपनी गाड़ी से आगे बढ़ा तो बदमाशों ने पीछा करना शुरू कर दिया और कुछ दूरी पर जाकर आयुष पर हमला कर दिया. आयुष वाहन से असंतुलित होकर गिर गया,इसके बाद बदमाश चिराग ने अपने साथियो के साथ मिलकर उस पर चाकू से हमला बोल दिया. आयुष के गले और सीने पर चाकू लगने से उसकी मौत हो गई.

ऐसे पकड़ में आए बदमाश
सारी घटना की तस्वीरें सीसीटीव्ही में कैद हो गयीं. पुलिस के हाथ यह सीसीटीव्ही लगा. इसमें बदमाश भागते नजर आ रहे थे, लेकिन उनके पास कोई वाहन नहीं था. पुलिस के हाथ यह सीसीटीवी तो लगे लेकिन इन बदमाशों की इसे पहचान नहीं हो सकी, पुलिस के  लिए इन बदमाशों को पकड़ना बहुत बड़ी चुनौती थी. अधिकारियो ने इसके लिए एक सर्कल में पुलिस कर्मियों की एक टीम बनायी. घटनास्थल के आसपास के सीसीटीव्ही खंगाले तो कुछ दूरी पर एक जगह बदमाश एक बाइक पर जाते दिखे. इस पर नजर आ रहे नंबर के आधार पर पुलिस ने बदमाश को चिन्हित कर उससे पूछताछ की तो उसने अपनी जुर्म कबूल कर लिया. इसके बाद पुलिस ने कुल छह आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया, इसमें तीन नाबालिग शामिल है. इसमें से कुछ बदमाश आपराधिक प्रवृत्ति  के भी हैं. हत्या में शामिल चिराग पर पूर्व में भी तीन अपराध दर्ज हैं.

Tags: Brutal crime, Indore news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *