10वीं के छात्र की स्कूल कैंपस में दौड़ा-दौड़ाकर हत्या, विरोध में सुलग रहा शहर

हाइलाइट्स

बिहार के छपरा में हुई इस घटना के बाद तीन आरोपी अभी भी फरार हैं
छपरा के जलालपुर में दो छात्र गुटों के बीच चाकूबाजी में आदित्य की मौत हो गई थी
स्थानीय सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल ने इस घटना को विधि-व्यवस्था का सबसे खराब उदाहरण बताया है

छपरा. छपरा के जलालपुर में दसवीं के छात्र आदित्य की हत्या का मामला तुल पकड़ता जा रहा है. इस केस में पुलिस ने अब तक चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. सोशल मीडिया में मामला तूल पकड़ने के बाद कारण के एसपी संतोष कुमार ने बताया कि यह मामला प्रेम-प्रसंग से जुड़ा था जिसे लेकर छात्र के दो गुटों के बीच झंझट हुआ और चाकू मारकर आदित्य की हत्या कर दी गई. उन्होंने कहा कि मामले को कुछ लोग संप्रदायिक रंग देना चाहते हैं जिसे प्रशासन बर्दाश्त नहीं करेगा और जो भी माहौल बिगाड़ने की कोशिश करेगा उसके खिलाफ उचित कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

आदित्य के परिजन अब इस मामले के आरोपियों के लिए फांसी की सजा की मांग कर रहे हैं. आदित्य की हत्या के बाद तीन आरोपी अभी भी फरार है जिनको पकड़ने में पुलिस नाकाम साबित हो रही है और लोगों का आक्रोश बढ़ रहा है. गौरतलब है कि 21 सितंबर को छपरा के जलालपुर में छात्रों के गुटों के बीच चाकूबाजी में एक छात्र की मौत हो गई थी. मृतक छात्र का नाम आदित्य कुमार था जो जलालपुर हाई स्कूल में दसवीं का छात्र था.

आरोप है कि आपसी रंजिश में स्कूल के ही नाबालिग छात्रों ने मिलकर आदित्य की चाकू से गोदकर हत्या कर दी. इस घटना के बाद आक्रोशित लोगों ने जलालपुर हाई स्कूल में तोड़फोड़ और हंगामा भी किया. मृतक छात्र जलालपुर थाना क्षेत्र के भटकेसरी गांव निवासी टुनटुन तिवारी का पुत्र आदित्य कुमार था. आरोप था कि एक खास समुदाय के सात लड़कों ने पूर्व नियोजित साजिश के तहत आदित्य को स्कूल कैंपस में दौड़ा-दौड़ा कर चाकू से गोद डाला था. इसे साजिश इसलिए कहा जा रहा था क्योंकि घटना से ठीक पहले आरोपियों ने कट्टा से केक काटकर वीडियो और बनाया और जलालपुर में खेल होने का संदेश भी लिखा.

चाकू के कई वार से जख्मी आदित्य की मौके पर  मौत हो गई थी. इस घटना की सूचना शीघ्र ही आग की तरह चारों तरफ फैल गई. इस घटना को लेकर विपक्ष ने सरकार पर सवाल खड़े किए हैं. स्थानीय सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल ने इस घटना को विधि-व्यवस्था का सबसे खराब उदाहरण बताया और कहा कि अब विद्यालय में छात्र सुरक्षित नहीं है. घटना के बाद जन अधिकार पार्टी के सुप्रीमो पप्पू यादव ने भी गांव में दौरा किया था और परिजनों को सांत्वना दी. घटना के बाद गांव में पुलिस लगातार कैंप कर रही है.

Tags: Bihar News, Chapra news

Share
Facebook Twitter Pinterest Linkedin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *