5 मिनट की ब्रीदिंग एक्सरसाइज से करें ब्लड प्रेशर को कंट्रोल, दवा से भी ज्यादा है असरदार-रिसर्च

हाइलाइट्स

डायफ्राम और सांस लेने में सहायक मसल्स के लिए रोजाना एक्सरसाइज BP को घटाता है
यूनिवर्सिटी ऑफ कोलोराडो के शोधकर्ता ने यह अध्ययन किया है

High blood pressure ब्लड प्रेशर आज लाइफस्टाइल से संबंधित बहुत बड़ी समस्या बन गई है. अधिकांश लोगों का ब्लड प्रेशर बढ़ा हुआ रहता है. इसके कारण हाइपरटेंशन की बीमारी होती है जो बाद में हार्ट से संबंधित कई बीमारियों को जन्म देती है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक दुनिया भर में 1.13 अरब लोग हाइपरटेंशन की बीमारी से जूझ रहे हैं. हर चार में से एक पुरुष और हर पांच में से एक महिला हाइपरटेंशन के साथ जीने को मजबूर हैं. आमतौर पर यह बीमारी तब होती है जब लाइफस्टाइल गतिहीन होने लगता है. ऐसे में एक छोटी सी सांसों की एक्सरसाइज ब्लड प्रेशर की बीमारी से दूर रख सकती है. एनपीआर डॉट ओआरजी के मुताबिक एक रिसर्च के आधार पर दावा किया गया है कि अगर लंग्स के डायफ्राम और सांस लेने में सहायक मसल्स के लिए रोजाना एक एक्सरसाइज की जाए तो इससे ब्लड प्रेशर कम हो जाता है और दिल से संबंधित बीमारियों का जोखिम भी कम रहता है.

इसे भी पढ़ें- हेयर फॉल से बचाव करती है सौंफ, स्किन में भी लाती है निखार, जानें इसके फायदे

मांसपेशियों की हरकत से ब्लड प्रेशर कम
यूनिवर्सिटी ऑफ कोलोराडो के शोधकर्ता डेनियल क्रेगहेड ने बताया कि सांस लेने के लिए जिन मसल्स का हम इस्तेमाल करते हैं, वे कमजोर होती जाती है और अंततः मर जाती हैं. जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है, इन मसल्स का क्षय होने लगता है. इन्हें तंदुरुस्त रखने के लिए एक्सरसाइज की जरूरत होती है. जब इन मांसपेशियों में एक्सरसाइज के माध्यम से हरकत होती हैं तो ब्लड प्रेशर कम होने लगता है. दरअसल, शोधकर्ताओं ने इसके लिए छोटा सा प्रयोग किया. उसने अपने अध्ययन में 18 से 82 साल के कुछ लोगों को शामिल किया और उन्हें कुछ दिनों तक एक डिवाइस की मदद से सिर्फ 5 मिनट के लिए एक्सरसाइज करने को कहा. परिणाम चौंकाने वाले थे.

दवा से ज्यादा असरदार
दरअसल, यह डिवाइस इनहेलर की तरह दिखता है. इसे उन्होंने रेजीस्टेंस ब्रीदिंग ट्रेनिंग डिवाइस नाम दिया है. इन डिवाइस को मुंह में लगाकर जोर से सांस लेने को कहा गया और कुछ सेकेंड सांस रोकने के लिए कहा गया. सांस लेने और छोड़ने के दौरान इनहेलर मुंह को बंद रखने में मदद करता ताकि प्रतिरोध बना रहे. यह एक तरह से बाबा रामदेब के अनुलोम विलोम या प्राणायाम से मिलती जुलती एक्सरसाइज है. सिर्फ इसमें मुंह में एक डिवाइस लगा दिया जाता है. अध्ययन में शोधकर्ताओं ने 30 बार इस डिवाइस की मदद से जोर से सांस लेने वाली एक्सरसाइज कराई. शोधकर्ता क्रेकहेड ने बताया कि रोजाना 30 बार प्रैक्टिस करने के 6 सप्ताह बाद देखा गया कि इन लोगों में मर्करी 9 मिलीमीटर तक कम हो गई है जिसके कारण ब्लड प्रेशर बहुत नीचे आ गया. शोधकर्ताओं ने कहा कि यह एक्सरसाइज ब्लड प्रेशर घटाने की दवा की तरह ही असरदार है.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *