Corona के डेल्टा प्लस वैरिएंट ने उड़ाई नींद, AIIMS निदेशक ने कहा- लॉकडाउन, वैक्‍सीन और कोविड प्रोटोकॉल सबसे बड़े हथियार

नई दिल्ली: भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर (Coronavirus 2nd Wave) का संक्रमण कम होने लगा है, लेकिन इस बीच तीसरे लहर की आशंका जताई जा रही है. दुनियाभर में तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस के डेल्टा प्लस वैरिएंट (Delta Plus Variant) के मामले देश के 8 राज्यों में सामने आ चुके हैं और इसका खतरा बढ़ने लगा है. इस बीच एम्स (AIIMS) के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया ने कोविड-19 के नए रूप के खिलाफ हथियारों को लेकर जानकारी दी है.

डेल्टा प्लस वैरिएंट के खिलाफ ये हैं 3 सबसे बड़े हथियार

एम्स (AIIMS) के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया (Dr Randeep Guleria) ने लॉकडाउन, वैक्सीनेशन और कोविड प्रोटोकॉल को कोरोना संक्रमण की लड़ाई में सबसे मजबूत हथियार बताया है. उन्होंने कहा, ‘तीसरी लहर से बचने के लिए हमें अभी से उपाय करने और सतर्क रहने की जरूरत है. इसके साथ ही हमें उन सभी कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करना होगा जो हम अभी तक करते आए हैं. हमें आक्रामक तरीके जांच और उसे ट्रैक करने की जरूरत है, ताकि अधिक-से अधिक लोगों को वैक्सीन लगाई जा सके.’ उन्होंने आगे कहा, ‘कोरोना वायरस के किसी भी वैरिएंट पर काबू पाने के लिए लॉकडाउन, वैक्सीनेशन और प्रोटोकॉल ये तीन सबसे बेहतर हथियार हैं.’

ये भी पढ़ें- सावधान! तेजी से फैलने लगा कोरोना का नया रूप, अब इन 8 राज्यों में मिला डेल्टा प्लस वैरिएंट

अब तक इन 8 राज्यों में मिला डेल्टा प्लस वैरिएंट

कोरोना वायरस के डेल्टा प्लस वैरिएंट (Coronavirus Delta Plus Variant) के अब तक 40 मामले सामने आ चुके हैं और यह 8 राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों तक पहुंच चुका है. एनबीटी की रिपोर्ट के अनुसार, डेल्टा प्लस वैरिएंट के सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र में दर्ज किए गए हैं और अब तक 21 लोग संक्रमित हो चुके हैं. इसके अलावा मध्य प्रदेश में छह, केरल और तमिलनाडु में तीन-तीन, कर्नाटक में दो और पंजाब, आंध्र प्रदेश और जम्मू में एक-एक मामले सामने आए हैं.

मध्य प्रदेश में डेल्टा प्लस वैरिएंट से संक्रमित महिला की मौत

रिपोर्ट के अनुसार, मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले में कोरोना वायरस के डेल्टा प्लस वैरिएंट (Delta Plus Variant in Ujjain) से दो लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है, जिनमें से एक महिला की 23 मई को मौत हो चुकी है. बताया जा रहा है कि महिला ने अब तक वैक्सीन नहीं लगवाया था. जबकि एक अन्य महिला डेल्टा प्लस वैरिएंट से संक्रमित होने के बावजूद अब ठीक हो गई है और पूरी तरह स्वस्थ है.

कोरोना के डेल्टा प्लस वैरिएंट ने बढ़ाई चिंता

कोरोना वायरस के डेल्टा प्लस वैरिएंट (Coronavirus Delta Plus Variant) ने चिंता बढ़ा दी है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुधवार को बताया कि इसे ‘चिंताजनक स्वरूप’ (वीओसी) के रूप में वर्गीकृत किया है. मंत्रालय ने बताया कि डेल्टा के अलावा डेल्टा प्लस समेत डेल्टा के सभी अन्य वैरिएंट को भी वीओसी की श्रेणी में रखा गया है. इसके साथ ही महाराष्ट्र, केरल और मध्य प्रदेश को सतर्कता बढ़ाने और जन स्वास्थ्य संबंधी उचित कदम उठाने की सलाह दी गई है.

लाइव टीवी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *