COVID-19 Waste: कोविड संक्रमित का कचरा उठाते वक्‍त र‍हें सर्तक, एक गलती खुली हवा में फैला सकता है संक्रमण

COVID-19 Waste: कोविड संक्रमित का कचरा उठाते वक्‍त र‍हें सर्तक, एक गलती खुली हवा में फैला सकता है संक्रमण

<!–

–>

आइसोलेशन वार्ड्स, कलेक्शन सेंटर्स, टेस्टिंग लैब:

आइसोलेशन वार्ड्स, कलेक्शन सेंटर्स, टेस्टिंग लैब:

सरकारी दिशा-निर्देश के मुताबिक, कोविड-19 वेस्ट के लिए अलग-अलग रंग के और डबल-लेयर्ड बैग या डिब्बे रखे जाने चाहिए। उन पर साफ़ तौर पर लेबल लगा होना चाहिए। जिन ट्रॉली से कोविड वेस्ट ले जाया जा रहा, उन्हें किसी दूसरे कचरे के लिए इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए। जो सैनिटेशन स्टाफ कोविड-19 के कचरे को हैंडल कर रहा है, उन्हें किसी और ड्यूटी पर या दूसरे कचरे को हैंडल करने के लिए नहीं लगाया जाना चाहिए।

<!–

–>

होम क्वारंटीन:

होम क्वारंटीन:

जो घर पर हैं, उन्हें बायोमेडिकल वेस्ट अलग करके पीले बैग में रखना होगा। फिर ये कचरा, स्थानीय प्रशासन द्वारा नियुक्त किए गए वेस्ट कलेक्शन स्टाफ को दे देना होगा।

<!–

–>

सफाई कर्मचारी के रखें ध्‍यान

सफाई कर्मचारी के रखें ध्‍यान

गाइडलाइन्स ये भी कहती हैं कि जो कर्मचारी वेस्ट की हैंडलिंग और कलेक्शन के काम में लगे हैं। उन्हें पीपीई दी जानी चाहिए, जिसे वो हर वक्त पहनकर रखें। इसमें थ्री-लेयर मास्क, गाउन, हेवी-ड्यूटी गल्व, गम बूट्स, सेफ्टी गोगल मिलनी चाहिए।

<!–

–>

कचरा उठाते वक्‍त ध्‍यान रखें ये बात

कचरा उठाते वक्‍त ध्‍यान रखें ये बात

अगर घर में कोई व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव है तो साफ-सफाई जितनी जरूरी है उतनी ही जरूरी उसका कचरा उठाते वक्त बरती जाने वाली सावधानियां। आइए जानते हैं कौन सी सावधानियां बरतना है जरूरी।

1. कोरोना पॉजिटिव मरीज, जिस भी चीज का इस्तेमाल करता है उसके कूड़े को ज्यादा देर न पड़ा रहने दें। ध्यान रखें कि कोई भी चीज खुली हवा में न रहे क्योंकि ये आपके और आपके परिवार के लिए हानिकारक साबित हो सकती हैं।

2-मास्क, सैनिटाइजर और ग्लब्स जैसे मेडिकल अपशिष्ट को एक अलग कंटेनर में ही रखें। भूलकर भी इसे घर के दूसरे कचरे के साथ न मिलाएं।

3-इस बात का ध्यान रखें कि मरीज जो भी कूड़ा किसी बाल्टी या फिर कंटेनर में डाल रहा है उसका मुंह बंद हो या फिर उसपर ढक्कन लगा हो।

4-कोविड मरीज का कचरा उठाते वक्त इस बात का खास ख्याल रखें कि जैसी ही कचरे की थैली आधी से ज्यादा भर जाए उसे तुरंत सील कर दें। इस तरीके से इसे फैलने से रोका जा सकता है।

5- जैसे ही कचरे की थैली को पैक कर लें उसके ठीक बाद अच्छी तरह से साबुन या फिर हैंडवाश से हाथ धोना न भूलें

6-कोरोना मरीज का कचरा आपके कचरे से न मिले और न ही दूसरे किसी व्यक्ति के कचरे से इसलिए आपको कचरे की थैली का रंग पीला रखना चाहिए। साथ ही इस थैली को कभी भी कचरे वाले को ना दे दें।

Share
Facebook Twitter Pinterest Linkedin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *