Drishyam देख Criminal ने रची पड़ोसी को फंसाने की साजिश, Delhi Police ने खत्म किया खेल

नई दिल्ली: साहित्य और सिनेमा को समाज का आईना माना जाता था. साहित्य तो आज भी अपनी गरिमा बनाए हुए है. वहीं इंटरनेट की दुनिया में 3G से 4G का दौर आते-आते सिनेमा मनोरंजन का माध्यम रह गया. हालांकि कुछ फिल्में इसका अपवाद हो सकती हैं. इंटरटेनमेंट, इंटरटेनमेंट और इंटरटेनमेंट वाले इस दौर में कुछ लोग सिनेमा देखकर भ्रमित भी हो रहे हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि अच्छी बातें सीखने के बजाए किसी फिल्म में दिखाए गए क्राइम सीन के तौर तरीकों का इस्तेमाल अब अपराध करने के लिए हो रहा है. एक बार फिर ऐसा ही मामला दिल्ली में सामने आया है.

‘दृश्यम’ देख रची साजिश

दिल्ली (Delhi) में एक शख्स ने अजय देवगन और तब्बू अभिनीत फिल्म ‘दृश्यम’ देखकर अपने पड़ोसी के खिलाफ साजिश रचते हुए खुद पर हमला किया. दरअसल, जिस पड़ोसी के खिलाफ उसने साजिश रची उसी की मां की हत्या के मामले में वह जेल में बंद ये शख्स पैरोल पर बाहर आया था. 

ये भी पढे़ं- Delhi: Air Force अकाउंटेंट के बेटे और पत्नी की Dumbbell मारकर हत्या, Double murder से सनसनी

इस मामले में आरोपी अमरपाल ने पहले तो ये फिल्म कई बार अकेले देखी फिर अपने साथियों को भी दृश्यम दिखाई. इस क्राइम की कहानी और दृश्यों को ऐसे री-क्रिएट करने की योजना बनाई की पड़ोसी ही फंस जाएं. इसी प्लानिंग के हिसाब से उसने लोगों को पहले ही बताना शुरू कर दिया कि ओमबीर का परिवार उसे धमका रहा है. 

पैरोल पर छूटने के बाद नई वारदात

दरअसल मजनू का टीला निवासी अमरपाल की पड़ोसी ओमबीर से दुश्मनी हो गई थी. 29 जून को अमरपाल ने साथियों के साथ ओमबीर की मां की हत्या कर दी थी. इसी मामले में अमरपाल को जेल भेजा गया था.

अमरपाल 60 दिन के लिए पैरोल पर बाहर आया तो पड़ोसी को फंसाने के लिए सबसे पहले उसने देसी कट्टे और गोली का इंतजाम किया ताकि हमला जानलेवा न हो सके. योजना के मुताबिक उसे रिश्तेदार से खुद पर गोली चलवानी थी ताकि पुलिस को बताया जा सके कि घटना के पीछे ओमबीर का हाथ है. 

पुलिस ने खत्म किया खेल

अमरपाल की रणनीति के मुताबिक तय समय और जगह यानी खैबर पास पर उसके ऊपर गोली चली. साथी फरार हो गए. घायल होने के बाद वो दोस्त के घर गया और पहले से तय स्क्रिप्ट के तहत कुछ लोगों के सामने कहने लगा कि दुश्मनों ने उसे मारने की कोशिश की.

इस मामले में पुलिस ने ई-सर्विलांस समेत बाकी तरीकों को इस्तेमाल किया. वहीं सच्चाई का पता लगाते हुए अमरपाल के करीबी गाजियाबाद निवासी अनिल को हिरासत में लिया. अब उसके बाकी साथियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है.

(इनपुट पीटीआई से)

LIVE TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *