Exclusive: गौतम गंभीर को जाने से मारने की धमकी वाला मेल पाकिस्तान के स्टूडेंट ने भेजा, पूलिस सूत्रों का दावा

नई दिल्ली. भारतीय जनता पार्टी के सांसद और पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर (BJP MP Gautam Gambhir)को जान से मारने की धमकी देने वाले ईमेल की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है. दिल्ली पुलिस के साइबर सेल के अधिकारियों का कहना है कि उन्हें ये धमकी भरे ईमेल पाकिस्तान (Pakistan) के स्टूडेंट ने भेजे थे. बता दें कि गंभीर को दो मेल किए गए थे जिसमें उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई थी. कहा गया था कि ये दोनों धमकी उन्हें ISIS कश्मीर (ISIS Kashmir) से मिले थे. इस धमकी के बाद गंभीर के घर के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई थी.

CNN-News18 को दिल्ली पुलिस के बड़े सूत्रों से जानकारी मिली है कि गंभीर को दोनों ईमेल पाकिस्तान के शहर कराची से किए गए थे. उन्हें ये मेल शाहिद हमिद नाम के शख्स ने किया था. कहा जा रहा है कि इस युवक की उम्र 20 से 25 साल के बीच है. और वो सिंध यूनिवर्सिटी का छात्र है.

क्या लिखा था ईमेल में?
गंभीर के भेजे के पहले ई मेल में लिखा था, ‘हमलोग तुम्हें और तुम्हारे परिवार को मौत के घाट उतार देंगे. दूसरे ईमेल में गंभीर के घर के बाहर का एक वीडियो भी भेजा गया था और लिखा था, ‘हम तुम्हें मारना चाहते थे, लेकिन तुम कल बच गए. अगर तुम अपनी जिंदगी और अपने परिवार से प्यार करते हो तो राजनीति और कश्मीर के मुद्दे से दूर रहो.’

क्या था धमकी का मकसद
पुलिस सूत्रों ने कहा कि उन्हें धमकियों के पीछे कोई बड़ा मकसद नहीं मिला है. भेजा गया वीडियो YouTube से था, जो संभवतः नवंबर 2020 में एक गंभीर के समर्थक ने अपलोड किया था. सूत्रों ने कहा कि मामले की जांच जारी है और आगे की कार्रवाई के लिए निष्कर्षों को केंद्रीय खुफिया टीमों के साथ साझा किया जाएगा.

[embedded content]

गंभीर ने दर्ज कराई थी शिकायत
गंभीर ने आईएसआईएस कश्मीर की ओर से धमकी भरा ईमेल मिलने के बाद दिल्ली पुलिस का रुख किया था. धमकी मिलने के बाद उनके दिल्ली स्थित घर के बाहर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. अधिकारियों ने बताया कि पुलिस उपायुक्त (मध्य) को भेजी गई एक शिकायत में कहा गया कि मंगलवार को रात करीब नौ बजकर 32 मिनट पर गौतम गंभीर के आधिकारिक ईमेल आईडी पर ‘आईएसआईएस कश्मीर’ की तरफ से जान से मारने की धमकी मिली.

Tags: Gautam gambhir, ISIS terrorists

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *