GST : ऑनलाइन गेम पर कितना लगेगा जीएसटी, मंत्री समूह ने तय कर लिया दर अब जीएसटी परिषद करेगा फैसला

हाइलाइट्स

मंत्री सूमह ने ऑनलाइन गेमिंग पर समान रूप से 28 फीसदी की दर लगाने की मंशा जताई है.
सभी तरह के गेम में इनाम जीतने वाले को 28 फीसदी जीएसटी चुकानी होगी.
इसके लिए अब टैक्‍स मूल्‍यांकन करने का तरीका बदला जा सकता है.

नई दिल्‍ली. देश-दुनिया में तेजी से बढ़ते ऑनलाइन गेम पर टैक्‍स वसूलने का नियम जल्‍द तैयार हो जाएगा. इस पर सुझाव के लिए राज्‍यों के वित्‍त मंत्रियों की अगुवाई में बनाई गई समिति ने दरों को लगभग फाइनल कर लिया है और जल्‍द अपनी सिफारिश जीएसटी परिषद को भेजेगी. अगर परिषद भी इस पर मुहर लगाती है तो जल्‍द ऑनलाइन गेमिंग से कमाई पर जीएसटी की दर तय हो जाएगी.

सूत्रों का कहना है कि मंत्री सूमह ने ऑनलाइन गेमिंग पर समान रूप से 28 फीसदी की दर लगाने की मंशा जताई है. यह दर सभी तरह के ऑनलाइन गेम पर लागू होगी. इसमें चाहे खिलाड़ी अपने कौशल के आधार पर जीत दर्ज करता है या फिर किस्‍मत से जुआ खेलकर पैसे बनाता है. सभी तरह के गेम में इनाम जीतने वाले को 28 फीसदी जीएसटी चुकानी होगी. हालांकि, इसके लिए अब टैक्‍स मूल्‍यांकन करने का तरीका बदला जा सकता है.

ये भी पढ़ें – Success Story: देश के सबसे बड़े स्नैक्स ब्रांड की ऐसे हुई थी शुरुआत, कुछ ही महीनों में IPO लाने की तैयारी कर रही कंपनी

अभी कितनी है जीएसटी दर
मौजूदा समय में ऑनलाइन गेमिंग पर 18 फीसदी की दर से जीएसटी वसूला जा रहा है. यह टैक्‍स पूरी राशि पर लगाया जाता है. ऑनलाइन गेमिंग पोर्टल इस राशि को फीस के रूप में अपने ग्राहकों से वसूलते हैं. सूत्रों का कहना है कि मंत्री समूह की रिपोर्ट लगभग फाइनल है और इसे जल्‍द जीएसटी परिषद के सामने रख दिया जाएगा. इसमें जीएसटी की दर बढ़ाने की सिफारिश के साथ उसके कैलकुलेशन का फॉर्मूला रिवाइज करने का भी सुझाव दिया गया है.

जीएसटी में क्‍या-क्‍या शामिल होगा
मंत्री समूह ने अपनी सिफारिश में स्‍पष्‍ट किया है कि जीएसटी के रूप में वसूली जाने वाली राशि में क्‍या-क्‍या शा‍मिल होगा. काउंसिल ने जून में सुझाव दिया था कि ऑनलाइन गेमिंग के मामले में पूरे वैल्‍यू पर 28 फीसदी जीएसटी वसूला जाना चाहिए. इसमें खिलाड़ी की ओर से दी गई एंट्री फीस भी शामिल होगी. इसके बाद जीएसटी परिषद ने इस रिपोर्ट पर दोबारा विचार करने के लिए कहा था. ऐसे में माना जा रहा है कि जीएसटी तय करने का फॉर्मूला बदला जा सकता है.

भारत में तेजी से फैल रहा ऑनलाइन गेमिंग
सरकार ऑनलाइन गेमिंग पर जीएसटी की दर लगाने को लेकर ऐसे ही नहीं आतुर दिख रही है. यह सेक्‍टर भारत में बहुत तेजी से पांव पसार रहा है. लॉकडाउन के समय तो ऑनलाइन गेमिंग इंडस्‍ट्री ने जमकर पैसा बनाया. केपीएमजी की रिपोर्ट के अनुसार, साल 2021 में ऑनलाइन गेमिंग का बाजार सिर्फ 13,600 करोड़ रुपये था, जो 2024-25 तक 29 हजार करोड़ रुपये पहुंचने का अनुमान है.

ये भी पढ़ें – Indian Railway: रेलयात्री कृपया ध्यान दें, रेलवे की दिल्ली पीआरएस सेवाएं 26-27 नवंबर को साढ़े तीन घंटे तक रहेगी बाधित

सबसे ज्‍यादा ऑनलाइन गेमर्स एशिया में
दुनिया में अगर सबसे ज्‍यादा ऑनलाइन गेम कहीं खेला जाता है तो वह एशियाई देश हैं. इनकी हिस्‍सेदारी कुल गेमर्स में आधी से भी ज्‍यादा है. एशिया में 174.6 करोड़ गेमर्स हैं, जो कुल गेमर्स का करीब 55 फीसदी है. इस साल पिछले साल के मुकाबले कुल गेमर्स की संख्‍या में 4.6 फीसदी का इजाफा हुआ है, लेकिन राजस्‍व 15 साल में पहली बार घट गया है.

Tags: Business news in hindi, Gst, Online game

Share
Facebook Twitter Pinterest Linkedin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *