Haldwani: अस्पताल की दीवारों पर उकेरा 'छोटा भीम' व 'मिकी माउस', इन्हें देख दर्द भूल रहे बच्चे

पवन सिंह कुंवर

हल्द्वानी. अक्सर आपने देखा होगा कि बच्चे इलाज के लिए अस्पताल आने में डरते हैं. उन्हें दवाइयों और खास कर इंजेक्शन से बहुत डर लगता है. इंजेक्शन की सुई को देखकर वो रोना शुरू कर देते हैं. बच्चों को इलाज के दौरान कैसे अच्छा महसूस कराया जाए, इसकी एक बानगी उत्तराखंड के हल्द्वानी में देखने को मिल रही है. यहां के सोबन सिंह जीना बेस अस्पताल ने अलग तरह की पहल शुरू की गई है. बच्चों का भय दूर करने के लिए और उन्हें अस्पताल में घर जैसा माहौल देने के लिए अस्पताल में बच्चों के वार्ड का सौंदर्यीकरण कर दीवारों पर रंग-बिरंगी चित्रकारी की गई है.

बच्चों को अस्पताल में कहीं छोटा भीम दिख रहा है, तो कहीं मिकी माउस. चारों ओर नजर घुमाने पर बीमार बच्चों का ध्यान अपने दर्द से बंट जाता है. माता-पिता को भी अपने बच्चे के चेहरे पर मुस्कुराहट देख सुकून मिल रहा है.

अस्पताल के बाल रोग विशेषज्ञ डॉक्टर एस.एस बिष्ट ने बताया कि अस्पताल की ओर से की गई यह पहल काफी सकारात्मक है. इससे बच्चों के स्वास्थ्य पर अनुकूल प्रभाव पड़ता है. बच्चे अस्पताल में भी घर जैसा सहज महसूस कर पाते हैं. अस्पताल में बच्चों के लिए सकारात्मक माहौल बनाए रखने के लिए बच्चा वार्ड में आकर्षक रंग-रोगन किया गया है. उन्होंने आगे बताया कि सुंदर चित्रकारी को देखकर अस्पताल में इलाज के लिए आये बच्चों का मन लगा रहता है. बच्चे इलाज के दौरान रिकवर होने में भी परेशान नहीं होते हैं और जल्दी ठीक हो जाते हैं.

स्थानीय निवासी रमेश बोरा का पांच वर्षीय बेटा फूड पॉइजनिंग की वजह से यहां भर्ती है. उन्होंने कहा कि उनके बेटे को बच्चा वार्ड में रंग-बिरंगी पेंटिंग दिख रही है, उसके मनपसंद कार्टून दिख रहे हैं. इससे वो यहां अच्छा महसूस कर रहा है. इस तरह की यह पहल वाकई सराहनीय है. सकारात्मक माहौल से बच्चे जल्दी ठीक होंगे.

Tags: Chhota Bheem, Haldwani news, Health Department, Uttarakhand news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *