Mandi Shivratri Festival: जो काम मंत्री नहीं कर सके विधायक चंद्रशेखर ने किया, सेरी मंच पर फिर लौटेगी रौनक

मंडी. हिमाचल प्रदेश के मंडी (Mandi) जिला में होने वाले अंतर्राष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव (Shivarati Fair) की सांस्कृतिक संध्याएं इस बार छोटी काशी के ऐतिहासिक सेरी मंच पर होंगी. इससे शहर के बीचोंबीच स्थित ऐतिहासिक सेरी मंच की रौनक एक बार फिर लौटेगी. लोगों के विरोध के बावजूद बीते 12 साल से शिवरात्रि महोत्सव की सांस्कृतिक संध्याएं पड्डल मैदान में मेला स्थल पर ही आयोजित की जाती थी. लेकिन इस बार जिला प्रशासन ने सांस्कृतिक संध्याओं को शहर के ऐतिहासिक सेरी मंच पर करवाने का निर्णय लिया है.  इस बात की मुहर मंगलवार को अंतर्राष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव पर भ्यूली में आयोजित आम सभा में सर्वसम्मति से लगाई गई है.

बैठक की अध्यक्षता मेला समिति के अध्यक्ष एवं उपायुक्त मंडी अरिंदम चौधरी ने की, जिसमें धर्मपुर से कांग्रेस विधायक चंद्रशेखर भी विशेष रूप से मौजूद रहे. साथ ही आमसभा में देव समाज, सामाजिक संस्थाओं व आम नागरिकों ने भी अपने बहुमूल्य सुझाव दिए.

जनभावनाओं का सम्मानः चंद्रशेखर

आपके शहर से (मंडी)

हिमाचल प्रदेश
मंडी

हिमाचल प्रदेश
मंडी

बैठक उपरांत मीडिया से रूबरू होते हुए धर्मपुर से कांग्रेस विधायक चंद्रशेखर ने कहा कि जनता के सुझावों के बाद मेले के दौरान होने वाली सांस्कृतिक संध्याओं को शहर के सेरी मंच पर आयोजित करने का फैसला लिया गया है. उन्होंने कहा कि यह विषय जन भावना और पुरानी परंपरा के साथ जुड़ा है, इसलिए इस बार व्यवस्था में परिवर्तन किया गया है। उन्होंने कहा कि मेले की संध्याएं पुराने समय में यहीं होती आई हैं और इस बार भी इसे पुराने रूप में प्रस्तुत करने का प्रयास किया जाएगा. उन्होंने यह भी माना कि शहर के बीच में होने वाले इस कार्यक्रम को सफलतापूर्वक करवाने के लिए काफी मेहनत भी जिला प्रशासन को करनी पड़ सकती है.

बैठक की अध्यक्षता मेला समिति के अध्यक्ष एवं उपायुक्त मंडी अरिंदम चौधरी ने की, जिसमें धर्मपुर से कांग्रेस विधायक चंद्रशेखर भी विशेष रूप से मौजूद रहे.

चंद्रशेखर ने कहा कि प्रदेश में सरकार ही व्यवस्था परिवर्तन के लिए बनी है और आने वाले समय में जनहित से जुड़े कई प्रकार के बदलाव देखने को मिलेंगे. शिवरात्रि की आम सभा की बैठक में डीसी मंडी अरिंदम चौधरी, एसपी मंडी शालिनी अग्निहोत्री, एडीएम अश्विनी कुमार, जिला परिषद मंडी के अध्यक्ष पाल वर्मा, निगम मेयर दीपाली जसवाल सहित अन्य गणमान्य भी मौजूद रहे.

सेरी पर होते थे प्रोग्राम

गौरतलब है कि दस साल पहले मंडी के सेरी मंच पर क्लचरल नाइट के प्रोग्राम होते थे. लेकिन सरकार ने बाद में इन्हें पड्डल ग्राउंड शिफ्ट किया. लोगों ने विरोध भी किया, लेकिन सरकार ने लोगों की बात नहीं सुनी. अब दोबारा सेरी मंच पर रौनक लौटेगी.

Tags: Himachal pradesh, Maha Shivaratri, Mandi news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *