Mehul Choksi को भारत लाने की कोशिशें तेज, आज शाम 6:30 बजे डोमिनिका कोर्ट में सुनवाई

नई दिल्ली: भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) को डोमिनिका (Dominica) से प्रत्यर्पित किया जा सकता है. भारत सरकार की तरफ से इस बाबत कोशिशें तेज हो गई हैं. जांच एजेंसी सीबीआई के एक DIG के नेतृत्व में तमाम एजेंसियों के अधिकारियों की एक टीम डोमिनिका पहुंच चुकी है और यदि इस कैरिबियन द्वीप देश की अदालतें फरार हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को भारत निर्वासित करने की परमीशन देती हैं तो उसे वापस लाया जा सकेगा. आज शाम 6.30 बजे डोमिनिका कोर्ट में इस मामले की सुनवाई है.

2019 में एंटीगुआ के PM ने भी मानी ये बात
मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) 23 मई को एंटीगुआ (Antigua & Barbuda) से रहस्यमय तरीके से लापता हो गया था जहां वह 2018 से एक नागरिक के रूप में रह रहा है. 2019 में एंटीगुआ के PM Gaston Browne ने भी ये माना था कि मेहुल चौकसी ने नागरिकता से संबंधित जानकारी छुपाई थी. जो 8 सदस्यीय लीगल टीम है वो इस लेटर को डोमिनिका की कोर्ट में पेश कर सकती है. एंटीगुआ के प्रधानमंत्री ने अब कहा है, खुद को कानून और चांज एजेंसियों से बचाने के लिए, अपनी नागरिकता के निरस्त होने से बचाने के लिए चोकसी अदालतों का इस्तेमाल कर रहा है.

क्या कहना है एक्सपर्ट का
उधर केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) के पूर्व निदेशक एपी सिंह ने कहा, ‘डोमिनिका मेहुल चोकसी को भारत भेज सकता है क्योंकि उसके पास डोमिनिका में कोई कानूनी अधिकार नहीं है.’ हालांकि मेहुल चोकसी ने अदालत के सामने आरोप लगाया कि उसका अपहरण कर लिया गया और उसकी इच्छा के विरुद्ध किसी तीसरे देश (डोमिनिका) में लाया गया. अब अदालत चोकसी के निर्वासन पर अदालत को फैसला लेना है. दूसरी तरफ डोमिनिकी पहुंची भारतीय अधिकारियों की टीम का तर्क है कि चोकसी अब भी भारतीय नागरिक है और उसके खिलाफ इंटरपोल रेड नोटिस जारी है.

भाई ने की विपक्ष को रिश्वत की पेशकश?
उधर मेहुल चौकसी का भाई चेतन चौकसी डोमिनिका पहुंच चुका है. चोकसी का भाई कानूनी मामले में सहयोग के लिए प्राइवेट प्लेन से 29 मई को डोमिनिका पहुंचा है. कैरेबियन अखबार ने दावा किया है कि मेहुल चौकसी के भाई ने डोमिनिका के विपक्षी नेता को घूस देने की पेशकश की थी 
लेकिन हमारे सहयोगी चैनल WION से बात करते हुए डोमिनिका के नेता विपक्ष लेनॉक्स लिंटन ने इन सभी आरोपों को नकार दिया है.

यह भी पढ़ें: टीके के क्षेत्र में आत्मनिर्भर भारत की तरफ बड़ा कदम, अब ये कंपनी भी बनाएगी Covaxin

आरोप-प्रत्यारोप
उधर विपक्ष इस मामले को लेकर सरकार पर लगातार हमलावर है. कांग्रेस नेता असितनाथ तिवारी ने कहा है, ‘भगोड़े कारोबारी मेहुल चोकसी को पकड़ना है या बचाना है? मुझे लग रहा है केंद्र मेहुल को बचाने में लगी है.’ जवाब में बीजेपी नेता गुरु प्रकाश ने कहा, ‘जिस प्रकार की भ्रष्टाचार की विरासत मिली, तमाम भगोड़े कांग्रेस के वक्त के थे सबको वापस लाया जायेगा और न्यायोचित कारवाई की जाएगी.’  

(एजेंसी इनपुट के साथ)

LIVE TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *