Nalanda: राजगीर में शिफ्ट होगा बिहारशरीफ संग्रहालय? 2001 से किराये के मकान में चल रहा

मो. महमूद आलम

नालंदा. बिहार के नालंदा जिला के मुख्यालय बिहारशरीफ शहर को स्मार्ट बनाने के लिए 1,000 करोड़ रुपये से अधिक की योजनाओं पर काम चल रहा है. लेकिन, इस शहर के इकलौते म्यूजियम के यहां से राजगीर स्थानांतरित होने का खतरा मंडराने लगा है. इसका कारण है कि स्थापना के 22 वर्षों के बाद भी जिला प्रशासन के द्वारा भवन निर्माण के लिए तीन एकड़ भूमि उपलब्ध नहीं कराया जा सका है. इसके लिए लगभग 10 साल से राशि आवंटित है. कला, संस्कृति एवं युवा विभाग के सचिव दीपक आनंद दो साल में जिला प्रशासन को चार पत्र दे चुके हैं, लेकिन बावजूद इसके ज़िला प्रशासन की ओर से कोई पहल नहीं हो पाई है.

आखिरकार, अब बिहार शरीफ़ संग्रहालय को राजगीर ले जाने के लिए पत्र लिखा गया है. बिहार शरीफ संग्रहालय के अध्यक्ष डॉ. शिव कुमार मिश्रा ने बताया कि पदभार ग्रहण के बाद उन्होंने जिला प्रशासन से जमीन के लिए कई बार आग्रह किया था. लेकिन, इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है. ऐसे में म्यूजियम के लिए राजगीर में भवन बनाने का आग्रह किया गया है.

कई दुर्लभ सिक्के और प्राचीण भगवान बुद्ध की है प्रतिमा 

बिहार शरीफ म्यूजियम में कई दुर्लभ वस्तुएं, प्राचीनतम मूर्तियां, सिक्के, बर्तन व अन्य सामानों का अनूठा संग्रह है. नालंदा के गौरवशाली इतिहास की झलक भी यहां स्पष्ट देखने को मिलती है. इस संग्रहालय को 18 अगस्त, 2001 से यहां किराये के मकान में चलाया जा रहा है. यहां वर्ष 1094 के कई दुर्लभ सिक्के हैं. मालवा सुल्तान व ग्यास शाह खिलजी के सिक्कों के अलावा नूरसराय के मुजफ्फरपुर में मिली 10वीं शताब्दी की भगवान बुद्ध की प्रतिमा भी है.

22 साल बाद संग्रहालय के लिए जमीन नहीं मिली

यह संग्रहालय रेड क्रॉस भवन में किराये पर चल रहा है. इसके एवज में हर साल लाखों रुपए किराये के रूप में भुगतान करना पड़ता है. लेकिन बावजूद इसके, 22 साल बाद भी संग्रहालय के लिए जमीन नहीं मिल सकी है. संग्रहालय के अध्यक्ष ने यह भी बताया कि म्यूजियम  को दूसरी जगह शिफ्ट करने से दुर्लभ वस्तुओं के चोरी का खतरा मंडराएगा. इसको लेकर जिला प्रशासन व सरकार को चाहिए कि इसके लिए बिहारशरीफ में ही तीन एकड़ जमीन आवंटित कराया जाए ताकि यहां रखे दुर्लभ चीजें मूर्तियां, बर्तन व पुराने सिक्कों को आमजन देख सकें.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

FIRST PUBLISHED : January 25, 2023, 13:41 IST

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *