NIA का एमपी में भी पीएफआई के ठिकानों पर छापा, इंदौर-उज्जैन से 4 नेता गिरफ्तार

भोपाल. देश भर में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) पीएफआई के ठिकानों पर पड़े छापे की जद में मध्य प्रदेश भी आ गया है. एनआईए ने इंदौर और उज्जैन में छापा मारकर इस संगठन के 4 नेताओं को गिरफ्तार किया है. इस संगठन के देश विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने का इंटेलिजेंस इनपुट लगातार मिल रहा है. उसके बाद से अब मध्य प्रदेश में इस संगठन पर प्रतिबंध लगाने की तैयारी की जा रही है सरकार कभी भी इस संगठन पीएफआई पर प्रतिबंध लगा सकती है.

एमपी में पीएफआई के नेटवर्क को लेकर अब इंटेलिजेंस अलर्ट पर आ गई है. इस संगठन की संदिग्ध गतिविधियों पर लगातार नजर रखी जा रही है. प्रदेश के कई जिलों में इसका नेटवर्क है. एनआईए ने इंदौर और उज्जैन में छापा मारकर इस संगठन के 4 लोगों को गिरफ्तार किया है. देशभर में पीआईएफ के ठिकानों पर एनआईए ने रेड की. पीएफआई के मध्यप्रदेश के 4 स्टेट लीडर्स को गिरफ्तार किया गया. इनके पास से टेरर फंडिंग से जुड़े दस्तावेज और साहित्य बरामद किया गया.

पीएफआई पर बैन लगाने की तैयारी…
कट्टरवादी संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) का जाल अचानक तेजी से फैला है. इंटेलिजेंस भी प्रदेश को इस संगठन से बड़ा खतरा बता चुकी है. सिमी से कनेक्शन मिलने के बाद ये संगठन सुरक्षा एजेंसियों के रडार पर था. सरकार तमाम इनपुट और एविडेंस के आधार पर अब इस संगठन पर बैन लगाने की तैयारी में है.

ये भी पढ़ें- OMG : देश की सुरक्षा में बड़ी सेंध, ऑर्डिनेंस फैक्ट्री के कर्मचारी चुरा रहे थे बमों के उपकरण, जेल भेजा

[embedded content]

एमपी में फैला नेटवर्क…
प्रदेश में PFI के 650 से ज्यादा सदस्य सक्रिय हैं. यह संख्या तेजी से बढ़ रही है. इस संगठन का इंदौर, उज्जैन, खंडवा, बुरहानपुर, रतलाम समेत प्रदेश में नेटवर्क है. संगठन की कई अलग-अलग शाखाएं हैं. महिलाओं के लिए नेशनल वीमेंस फ्रंट (NWF – National Women’s Front) और विद्यार्थियों के लिए कैंपस फ्रंट ऑफ इंडिया (CFI Campus Front of India) हैं. एमपी में चूड़ी वाली घटना के बाद PFI सुरक्षा एजेंसियों के रडार पर आया था. उसके बाद से इस संगठन पर नजर और पैनी कर दी गई थी. झारखंड और केरल में इस पर पहले ही प्रतिबंध लगाया जा चुका है. यूपी में भी इसकी देश विरोधी गतिविधियां उजागर हुई थीं. इंटेलिजेंस इनपुट के बाद अब सरकार एमपी में भी पीएफआई को बैन करने की तैयारी में है.

Tags: Madhya pradesh news, NIA, PFI

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *