Pithoragarh: ततैयों की वजह से गंगोलीहाट तहसील में कर्फ्यू जैसे हालात, करना पड़ा बाजार बंद 

हिमांशु जोशी

पिथौरागढ़. अक्सर देखा गया है कि दंगे भड़कने या इसकी संभावना पर कर्फ्यू लगा दिया जाता है, लेकिन उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में कुछ ऐसी घटना हुई जो सबके लिए चर्चा का विषय बन गयी है. यहां के गंगोलीहाट बाजार में ततैयों के डर से कर्फ्यू जैसे हालात पैदा हो गए थे. ततैयों ने इस कदर आतंक मचाया कि यहां प्रशासन को जल्दी दुकानें बंद करानी पड़ी. दरअसल मुख्य बाजार में एक भवन की छत पर काफी समय से ततैयों ने अपना छत्ता बना रखा था. ततैयों का झुंड आए दिन लोगों को अपना निशाना बना रहा था. ततैये के हमले से लोग दहशत में थे.

बीच बाजार में ततैयों का छत्ता होने से स्थानीय व्यापारियों के साथ ही राहगीरों के लिए भी बड़ी मुसीबत बनी हुई थी. ततैयों का छत्ता बड़ा होने से उसके गिरने की भी आशंका बनी हुई थी. कई लोगों को ततैये डंक मार चुके थे.

आतंक का पर्याय बने ततैयों के छत्ते से निपटने के लिए गंगोलीहाट में बीती रात कर्फ्यू जैसे हालात पैदा हो गए. नगर में विद्युत आपूर्ति पूरी तरह से भंग करनी पड़ी. कड़ी मशक्कत के बाद योजनाबद्ध तरीके से ततैयों के झुंड को नष्ट किया गया जिससे क्षेत्र की जनता ने राहत की सांस ली है. गंगोलीहाट प्रशासन के लिए घनी आबादी के बीच ततैयों के झुंड को नष्ट करना काफी चुनौतीपूर्ण था.

एसडीएम अनिल कुमार शुक्ला के निर्देश पर रात को ततैयों के झुंड को नष्ट करने की योजना बनाई गई जिसके तहत गंगोलीहाट के पूरे बाजार को शाम ढलने पर जल्दी बंद करा दिया गया. साथ ही नगर व उसके आसपास के लोगों से अपने घरों में रहने और खिड़की-दरवाजों को बंद करने की अपील की गई. ततैयों के छत्ते को नष्ट करने के लिए पूरे इलाके की बिजली गुल करनी पड़ी.

Tags: Pithoragarh news, Uttarakhand news

Share
Facebook Twitter Pinterest Linkedin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *